Hero Hunk ने एक समय में टू व्हीलर्स के मार्केट में अपना तगड़ा रोला कायम कर रखा था। ग्राहक इस धांसू बाइक के लुक से लेकर हर एक फीचर पर दीवाने हो गए थे, लेकिन बाद में इस बाइक का प्रोडक्शन बंद कर दिया गया था। ऐसे में आज के समय में बहुत कम लोगों के पास ही Hero Hunk देखने को मिलती है।

हालांकि अब एक बार फिर Hero Motors ने अपनी इस धांसू बाइक को मार्केट में पेश करने का मन बना लिया है। दरअसल, रिपोर्ट्स का कहना है कि Hero Hunk को एक बार फिर मार्केट में पेश किया जा सकता है, वो भी किलर लुक और दमदार और आधुनिक फीचर्स के साथ। तो आइए जानते हैं इसके संभावित फीचर्स के बारे में –

Hero Hunk में मिलेंगे बेहतरीन फीचर्स

जानकारी की मानें तो हीरो मोटर्स द्वारा Hero Hunk में अबकी बार कई एडवांस और आधुनिक फीचर्स भी दिए जाएंगे, जिसमें नेविगेशन, राइडिंग मोड, मोबाइल कनेक्टिविटी, ड्यूल चैनल एबीएस के साथ डिजिटल स्पीड मीटर, ऑडोमीटर, ट्रिप मीटर, साइड स्टैंड इंडिकेटर, इंजन ऑफ ऑन बटन और टेक्नोलॉजी जैसे धांसू फीचर्स देखने को मिल सकते हैं।

Hero Hunk का किलर लुक

बता दें कि रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि Hero Hunk को पहले भी काफी यूनिक डिजाइन के साथ पेश किया गया था। ऐसे में इस बार भी इस बाइक को और ज्यादा यूनिक और हैवी डिजाइन के साथ मार्केट में पेश किया जा सकता है, जिससे ग्राहक अपने आप ही इस बाइक की तरफ आकर्षित हो जाएंगे।

Hero Hunk में दिया जाएगा पावरफुल इंजन

इंजन की बात करें तो मौजदूा जानकारी में कहा जा रहा है कि Hero Hunk में आपको 149CC का एयर कूल्ड BS6 इंजन दिया जा सकता है, जो 8500RPM पर 15BHP का पावर जेनरेट करने में सक्षम होगा। इसके साथ ही आगे की तरफ डिस्क ब्रेक और पीछे की तरफ ड्रम ब्रेक भी लगाए जाने की जानकारी सामने आई है।

Hero Hunk का सॉलिड इंजन देगा बेहतरीन माइलेज

गौरतलब है कि Hunk के पुराने मॉडल में 55 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देखने को मिला था। ऐसे में नई Hero Hunk में आपको 60 से 65 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देखने को मिल सकता है।

Hero Hunk की संभावित कीमत

फिलहाल Hero Motors की तरफ से इस बाइक को लेकर कोई ऑफिशियल जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन रिपोर्ट्स की मानें तो Hero Hunk को 99000 रुपये (एक्स शोरुम) की कीमत तक मार्केट में पेश किया जा सकता है।

Verify information accuracy with fact-checking: scrutinize claims, cross-reference sources, and confirm data to ensure reliability and combat misinformation.