Girl Made Muslim Boyfriend Enter In Mahakal Temple On Brothe's ID
Girl Made Muslim Boyfriend Enter In Mahakal Temple On Brothe's ID

सोशल मीडिया पर हाल ही में एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है, जिसे उज्जैन के महाकाल मंदिर जोड़ा जा रहा है। दरअसल, इस वीडियो में एक युवक और युवती की तस्वीर को शेयर करके दावा किया जा रहा है कि तस्वीर में दिख रही युवती ने अपने भाई के आधार कार्ड का इस्तेमाल करते हुए युवक जो कि उसका मुस्लिम बॉयफ्रेंड है, उसे मंदिर में प्रवेश करवाया है। सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को शेयर किया गया है, जिससे यह प्रतीत हो रहा है कि ये घटना हाल की ही है।

सोशल मीडिया का पोस्ट वायरल

दरअसल, ‘सारिका त्यागी‘ (आर्काइव लिंक) नाम की एक्स यूजर ने ये पोस्ट शेयर करते हुए लिखा कि,

यूपी के राधेश्याम दुबे मुंबई में सेटल है। उनकी कुपुत्री है खुशबू दुबे।
खुशबू दुबे का एक ब्यायफ्रेंड है मोहम्मद यूनुस, खुशबू दुबे ने अपने घर बोला कि वो उज्जैन बाबा महाकाल के दर्शन और भस्मारती करने जा रही है।
घर वाले खुश हो गए कि कुपुत्री बेहद धार्मिक है।
कुपुत्री खुशबू दुबे ने अपने भाई का आधार कार्ड चुराया और अपने ब्यायफ्रेंड को लेकर उज्जैन आई।
खुशबू दुबे ने अपने ब्यायफ्रेंड मोहम्मद यूनुस को अपने भाई के पहचान पत्र यानी आधार कार्ड पर होटल में साथ कमरा लिया।
बाद में भस्मारती करने के लिए रजिस्ट्रेशन के लिए खुशबू दुबे और उनके ब्यायफ्रेंड मोहम्मद यूनुस गए और खुशबू दुबे के भाई के आधार कार्ड पर रजिस्ट्रेशन के लिए दिया।
और मोहम्मद यूनुस दीपक दुबे नाम से भस्मारती में शामिल भी हुआ।
लेकिन आरती के समय नियम ना मानकर अलग व्यवहार की वजह से पकड़ा गया, मंदिर प्रशासन को उसकी हरकत देखकर शक हुआ।
पुजारी जी जो मन्त्र बोलने को कह रहे थे ये मन्त्र नही बोल रहा था।
तब उसका आधार कार्ड चेक किया और मास्क हटाने के बाद फोटो मैच नहीं हुआ, इसलिए पकड़ा गया।
फिर जब कड़ाई से पूछताछ हुई तब पूरा राज खुल गया।
इन कुछ हिंदू लड़कियों को, कोई नही समझा सकता….।। “विनाश काले विपरीत बुद्धि”…..

इसके अलावा फेसबुक यूजर ‘हिन्दू कपिल नागर‘ (आर्काइव लिंक) ने भी तस्वीर को शेयर करते हुए इसी तरह का दावा किया है। कई और फेसबुक और ट्विटर यूजर्स इस पोस्ट को शेयर करते हुए इस लव जिहाद से जोड़ रहे हैं।

हालांकि टूडे समाचार ने अपने फैक्टचेक में पाया है कि महाकाल मंदिर में ये हुई ये घटना सही तो है, लेकिन हाल कि नहीं है। दरअसल, ये घटना उज्जैन के महाकाल मंदिर में 2 साल पहले हुई थी। इसके बाद युवक और युवती दोनों को ही पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया था। हालांकि ये घटना हाल की नहीं है।

फैक्टचेक

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब टूडे समाचार ने इस मामले की पड़ताल की और इससे जुड़े कीवर्ड की तलाश की तो हमें दैनिक भास्कर की एक 2 साल पुरानी रिपोर्ट मिली, जिसमें 2 साल पहले की तारीख दी गई थी। इस रिपोर्ट में वायरल तस्वीर को देखा गया और साथ ही रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार हमें पता लगा कि युवक को महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की भस्म आरती में पकड़ा गया था।

दरअसल, उस युवक का नाम मोहम्मद युनूस था, जो कर्नाटक का निवासी था। उसकी महिला मित्र और तस्वीर में दिख रही युवती खुशबू दुबे ने अपने भाई अभिषेक दुबे के आधार कार्ड पर उज्जैन के महाकाल मंदिर में उसकी एंट्री करवाई थी। हालांकि दोनों को पकड़ लिया गया था और इसके बाद पुलिस ने भी दोनों को गिरफ्तार कर लिया था।

इसके अलावा लाइव हिन्दुस्तान और जी न्यूज और नईदुनिया की वेबसाइट पर भी इससे संबंधित खबर को 2 साल पहले पोस्ट किया गया था, जिसे हमारी टीम ने अपनी पड़ताल में ढूंढ निकाला।

ऐसे में टूडे समाचार की इस पड़ताल के दौरान ये साफ हो गया है कि युवती का अपने भाई के आई कार्ड पर मुस्लिम बॉयफ्रेंड को एंट्री दिलाने की ये घटना 2 साल पुरानी है और इसका हाल-फिलहाल से कोई लेना देना नहीं है।

Verify information accuracy with fact-checking: scrutinize claims, cross-reference sources, and confirm data to ensure reliability and combat misinformation.