UPI पेमेंट की बढ़ गई लिमिट! बिना इंटरनेट के अब कर सकेंगे 5 लाख तक का पेमेंट

Today Samachar Desk

By Today Samachar Desk

Published on:

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास ने 8 दिसंबर 2023 को एलान किया कि अब यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) पेमेंट्स की लिमिट्स में वृद्धि की गई है, विशेषकर अस्पताल और शैक्षणिक संस्थानों के लिए। इसके साथ ही व्यक्ति अब 5 लाख रुपए तक के भुगतान को भी UPI के माध्यम से कर सकते हैं। इस अपग्रेड के अलावा, लोन, ब्रोकरेज, म्यूचुअल फंड और क्रेडिट कार्ड के बिल पेमेंट की भी सीमा में बढ़ोतरी की गई है।

यूपीआई: एक बार में बड़े लेनदेन को सरल बनाएं

यूपीआई ने अब स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, और शैक्षणिक संस्थानों में भुगतान की प्रक्रिया को सरल बना दिया है। इसे यूपीआई के माध्यम से किसी भी स्थान पर सीधे और तेजी से भुगतान करने का एक आसान तरीका बना दिया है।

यूपी: ऑनलाइन और ऑफलाइन ट्रांजेक्शन का विकास

आरबीआई के नए नियमों के मुताबिक, यूपीआई सिर्फ ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के लिए ही नहीं, बल्कि ऑफलाइन ट्रांजेक्शन और आर्टिफिशल इंटेलिजेंस (AI) के इस्तेमाल को भी प्रोत्साहित कर रहा है।

स्कूल और अस्पताल में यूपीआई पेमेंट कैसे करें

हॉस्पिटल और शैक्षणिक संस्थानों में यूपीआई पेमेंट करने के लिए आपको निम्नलिखित तरीकों का पालन करना होगा:

  1. अपने मोबाइल बैंकिंग ऐप को खोलें।
  2. UPI भुगतान विकल्प चुनें।
  3. रिसीवर का मोबाइल नंबर या UPI ID दर्ज करें।
  4. पेमेंट की राशि दर्ज करें और UPI पिन दर्ज करें।
  5. “Pay” बटन पर क्लिक करें और पेमेंट को पूरा करें।

यूपी पेमेंट्स की लिमिट्स:

  • यूपीआई यूजरों के लिए रोज की लेनदेन सीमा 5 लाख रुपए है।
  • यूपीआई यूजर एक बार में 5 लाख रुपए तक की लेनदेन कर सकते हैं।
  • यूपीआई यूजरों के लिए ऑन-डिवाइस वॉलेट की कुल सीमा 2,000 रुपये है।
  • एक खाते से 24 घंटे में सिर्फ 10 बार पेमेंट की जा सकती है।

नई लिमिट्स के फायदे:

  • बड़े लेनदेन को सुविधाजनक बनाने के लिए UPI पेमेंट्स एक शानदार और आसान विकल्प प्रदान करते हैं।
  • डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने से लोगों को अधिक बड़े लेनदेन करने में आसानी होती है।
  • नकदी लेनदेन को कम करने से उनकी सुरक्षा में सुधार होता है और इससे अपातकालीन स्थितियों में सुविधा होती है।
  • नई लिमिट्स ने लोगों को एक दिन में ज्यादा लेनदेन करने की स्वतंत्रता प्रदान की है, जिससे वित्तीय समृद्धि में वृद्धि हो सकती है।
Today Samachar Desk

Follow the latest breaking news and developments from India and around the world with Today Samachar' Newsdesk. From politics , Entertainment and policies to the economy and the environment, from local issues to national events and global affairs, we've got you covered. Contact us on- todaysamachar26@gmail.com