पश्चिम बंगाल चुनाव से पहले ममता का बड़ा दांव, बीजेपी के लिए बढ़ी मुसीबत

 

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल चुनाव होने में तकरीबन तीन से चार महीने शेष हैं, उससे पहले ही पश्चिम बंगाल की मुखिया ममता बनर्जी ने बड़ा ऐलान किया है। ममता के इस ऐलान से बीजेपी के सामने बड़ी मुसीबत आ गई है। गौरतलब है कि बीजेपी 2021 पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में 200 से अधिक सीटें जीतने का दावा कर रही है। इसे लेकर उन्होंने टीएमसी में सेंधमारी भी की, जिससे कई टीएमसी नेता बीजेपी में शामिल हो गये। क्योंकि वे  ममता के रवैये से नाराज थे।

बंगाल में नहीं लिया जायेगा कोई कीमत

हालांकि इन नेताओं द्वारा टीएमसी छोड़ने से आने वाले चुनाव में ममता की कुर्सी डगमगा रहीं थीं। उससे पहले ही ममता ने ये बड़ा दांव चल दिया। गौरतलब है कि ममता बनर्जी ने अपने राज्य में मुफ्त टीकाकरण का ऐलान किया है। इससे अब इन टीकों का पश्चिम बंगाल में किसी तरह का कोई कीमत नहीं लिया जायेगा। बता दें कि देश में 16 जनवरी 2021 से कोरोना का टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है, जो सिर्फ चुनिंदा लोगों के लिए है। इसमें स्वास्थ्यकर्मी, फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर, 50 साल से ज्यादा उम्र के वैसे लोग जिन्हें पहले से कोई बीमारी है, शामिल हैं।

केंद्र सरकार ने नहीं किया स्पष्ट

आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने अबतक ये स्पष्ट नहीं कहा है कि कोरोना टीका लेने वाले लोगों से पैसे लिए जाएंगे या नहीं। इस बीच दिल्ली समेत कई राज्य मांग कर चुके हैं कि देशवासियों को कोरोना का टीका मुफ्त में लगना चाहिए। बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने भी वादा किया था कि अगर उनकी सरकार आई तो सभी लोगों को कोरोना का वैक्सीन मुफ्त में लगाया जाएगा।

294 सीटों वाली पश्चिम बंगाल में होने है चुनाव

आपको बता दें कि 294 सदस्यों वाली पश्चिम बंगाल विधानसभा के लिए भी इसी साल अप्रैल-मई में चुनाव होने हैं। इस लिहाज से ममता की इस घोषणा का खासा महत्व है। सीएम ममता बनर्जी ने अपने इस बयान में कहा कि, "मुझे ये घोषणा कर खुशी हो रही है कि हमारी सरकार राज्य के सभी लोगों को बिना किसी खर्चे के कोरोना का वैक्सीन लगाने की व्यवस्था कर रही है।" 

From around the web