अंग्रेजों के जमाने का गुड़ अब फिर बिकने को तैयार, मजदूरों के खिले चेहरे

 

रिपोर्ट : रितिका आर्या

नई दिल्ली : कोरोना काल में एशिया की मशहूर हापुड़ की गुड़ मंडी में भारी मात्रा में गुड़ की आवक शुरू हो गयी है,  जिससे किसान, व्यापारी और जनपदवासी काफी खुश नजर आ रहे है और किसानो से लेकर व्यापारी गुड़ का व्यापार करने के लिए हापुड़ की नवीन मंडी में पहुंच रहे हैं। बता दें, इस नवीन मंडी से दूर दूर के राज्यों के लिए गुड़ सप्लाई किया जा रहा है और दूर-दूर के व्यापारी हापुड़ से गुड़ खरीदना पसंद करते हैं।

आपको बता दें कि इस गुड़ मंडी में बाल्टी वाला गुड़ मंडी में मिलता है जिसकी दूर-दूर के राज्यों में काफी मांग है। यहां गुड़ का रेट 3100 रूपये प्रति कुंटल खुला है। हापुड़ के इस गुड़ की मांग दुर्गा पूजा तक बनी रहती है। हापुड़ की ये गुड़ मंडी पहली ऐसी गुड़ मंडी है, जिसमें नए सीजन का गुड़ सबसे पहले आना शुरू होता है। आपको बता दें, हापुड़ गुड़ मंडी अंग्रेजो के शासन से प्रसिद्ध रही है। हापुड़ की गुड़ मंडी जहां गुड़ से मिठास घोलने का काम करती है तो वहीं प्रदेश सरकार को करोड़ो रूपये प्रतिवर्ष का राजस्व भी प्रदान करती है। नए सत्र की गुड़ बनाने की शुरुआत हो गयी है।

वहीं, हापुड़ गुड़ मंडी में पहुंचे मजदूरों का कहना है की कोरोना काल में उन्हें कहीं काम नहीं मिल रहा था और जो गाड़ी उनके पास थी कोरोना काल में वो भी खड़ी थी जिस कारण उनको काफी परेशानियो का सामना करना पड़ रहा था। लेकिन जब से हापुड़ में गुड़ की आवक शुरू हुई है तब से उन्हें काम मिला है जिससे वो अब बहुत खुश है।

From around the web