UP: फतेहपुर में घटी घटना को पुलिस ने बताया गलत, परिजनों ने जताया था रेप की आशंका

 

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में दो बच्चियों के रेप की खबर को फतेहपुर पुलिस ने गलत बताया है। फतेहपुर SP ने कहा कि फतेहपुर के छिछनी गांव से एक भ्रामक सूचना सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही है कि दोनों बच्चियों के हाथ बंधे थे और आंखें फोड़ दी गई हैं। ये खबर गलत है। प्रथम दृष्टया मामला डूबने से मौत का लग रहा है। शवों का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है।


आपको बता दें, पूरी घटना असोथर थाना इलाके की है। इस मामले की जानकारी पाकर मौके पर पहुंचे एसपी प्रशांत शर्मा समेत कई थानों की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। हत्या की जानकारी पाकर मौके पर पहुंचे मृतका के चाचा ने रेप के बाद हत्या की आशंका जताई है। वहीं परिजनों द्वारा रेप की बात कही जाने पर पुलिस का परिजनों के खिलाफ गुस्सा भी देखने को मिला। हालांकि परिवार वालों की तरफ से पुलिस की गुंडागर्दी का विरोध भी किया गया।

परिवार वालों की मानें तो दोनों सगी बहने चना की साग तोड़ने खेत की ओर गई थी लेकिन जब देर रात तक दोनों वापस नहीं लौटीं तो परिवार वालों ने उनकी खोजबीन शुरू की। देर रात दोनों का शव तालाब में पड़ा हुआ मिला। घटना की सूचना के बाद पुलिस भी मौका-ए वारदात पर पहुंची। जब पुलिस ने दोनों शवो को तालाब से बाहर निकलवाया तो उन्होंने देखा कि दोनों के हाथ धान के पुआल से बंधे थे।

From around the web