UP: अब पशुओं का बनेगा आधार कार्ड, दर्ज होगी जानकारी

 

रिपोर्ट : रितिका आर्या

नई दिल्ली : अब तक आपने लोगों के आधार कार्ट, पेन कार्ट के बारे में सुना होगा लेकिन क्या कभी आपने पशुओं के आधार कार्ड के बारे में सुना है। दरअसल, अब उत्तर प्रदेश में प्रत्येक गोवंश की अपनी पहचान होगी। गोवंशों की अपनी पहचान के लिए गए और दूसरे गोवंशों की ईयर टैगिंग का काम शुरू किया जा रहा है। ईयर टैगिंग के साथ ही हर पशुओं को 12 अंकों का यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर दिया जाएगा। जो एक तरह से उनका (पशुओं) का आधार कार्ड है।

आपको बता दें कि इस प्रक्रिया के तहत पशुओं की सभी जानकारियां संचित हो सकेगी। हालांकि यहां पशुपालकों के लिए अच्छी खबर ये है की उन्हें इसके लिए किसी तरह का कोई भुगतान नहीं करना होगा।

इसे लेकर प्रमुख सचिव पशुपालन भुवनेश कुमार ने कहा है कि टीका लगाने के साथ ही पशु की ईयर टैगिंग अनिवार्य की गई है। इस ईयर टैगिंग के तहत पशु के कान में एक पीले कार्ड को लगाया जाएगा। जिसमें उस पशु से जुड़ी जानकारी जैसे पशु की उम्र, लोकेशन, प्रजाति, ब्रिडिंग और टीकाकरण की स्थिति के साथ-साथ दूध की मात्रा कद काठी और पालक का नाम आधार और फोन नंबर जैसी चीजें दर्ज होगी।

From around the web