यूपी: जहरीली शराब से 5 की मौत, आधा दर्जन हॉस्‍प‍िटल में भर्ती

 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

उत्तर प्रदेश में जहरीली शराब से मौतों का सिलसिला जारी है। ताज़ा मामला प्रयागराज का है जहां पर सरकारी देशी शराब पीने से 5 लोगों की जान चली गई तो वहीं आधा दर्जन लोग अस्पताल में ज़िन्दगी और मौत की जंग लड रहें हैं। वैसे तो उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अक्सर ज़हरीली शराब पर रोक को लेकर तमाम  दावे करती है लेकिन बावजूद इसके न तो जहरीली शराब की ब्रिक्री बंद हुई है और न ही इसके कारण होने वाली मौतें। इस बार प्रयागराज की फूलपुर तहसील के अमिलिया गांव में जगहरीली शराब का कहर देखने को मिला। जहां पर सरकारी ठेके से ज़हरीली शराब पीकर 5 लोगों ने अपनी जान गवां दी।

बताया जा रहा है जिस ठेके से शराब पीकर लोगों की जान गई है। उस ठेके से इस गांव के आस-पास के दर्जन भर गांव के लोग शराब खरीद कर पीते हैं। यहां भी ठेकेदार देशी सरकारी के नाम से ज़हरीली शराब बेच रहा था, गुरुवार की रात और शुक्रवार को यहां से करीब एक दर्जन लोगों ने शराब खरीदी। इन खरीदारों में से कई की हालत बिगड़ने लगी और अकेले इस अमिलिया गांव से शंभुनाथ मौर्या, राजबहादुर हरिजन और बसंत लाल पटेल की मौत हो गई।

अमिलिया के अलावा पास के खनसार गांव के प्यारे लाल बिंद और मैलवन गांव के राजेश गौड़ की जान इसी ठेके की ज़हरीली शराब ने ले ली। घटना की सूचना होने पर जिले भर के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और शहर भर से 2 दर्जन एम्बुलेंस बुलाकर आसपास के गांवों में भी उन लोगों की तलाश शुरू हो गई जिनकी तबीयत इस ठेके की शराब पीने से बिगड़ी थी।

5 मौतों के अलावा करीब आधा दर्जन लोगों को गंभीर हालत में शहर ले जाकर अस्पताल में भर्ती करवाया गया। ये सरकारी ठेका संगीता जैसवाल का है जिसे उसका पति श्यामबाबू जैसवाल चला रहा था। पुलिस ने श्याम बाबू की तलाश में उसके घर पर दबिश भी दी लेकिन श्याम बाबू और संगीता दोनों फरार हो गए।

गांव वालों के मुताबिक श्याम बाबू अपराधी टाइप का है और वो देशी शराब के नाम पर कई तरह की शराब बेच रहा था। ज़हरीली शराब पीने से जिन 5 लोगों की मौतें हुईं, उनके घर मातम पसरा है। लोगों का कहना है कि श्यामबाबू स्थानीय पुलिस की मिलीभगत से अवैध और ज़हरीली शराब का कारोबार कर रहा था और कई बार शिकायत करने पर भी उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। पुलिस ने इस मामले में ठेके के एक सेल्समैन को गिरफ्तार किया है हालांकि श्यामबाबू की तलाश जारी है।

From around the web