हाथरस में हैवानियत का नंगा नाच, पीड़िता ने तोड़ा दम

 

रिपोर्ट : रितिका आर्या

नई दिल्ली : हाथरस में हैवानियत के बाद अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही दलित युवती ने दम तोड़ दिया। बता दें कि, 14 सितंबर को नाबालिग (19 साल) के साथ वहशी दरिंदो ने पहले तो गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया तो वहीं बाद में बच्ची के साथ मारपीट की गई। दरिंदो ने इस दौरान बच्ची की  रीढ़ की हड्डी तोड़ दी, तो वहीं उसकी जीभ को भी काटकर अलग कर दिया।

इस घटना के बाद पीड़िता को इलाज के लिए अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था लेकिन जब उसकी हालत में सुधार नहीं आया तो उसे दिल्‍ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। आपको बता दें कि जिंदगी और मौत के इस लड़ाई में लड़की ने अपनी जिंदगी की लड़ाई हार गई। वहीं इस इस दलित युवती की मौत के बाद विपक्ष ने प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने दलित बच्ची की मौत के बाद सरकार पर वार करते हुए कहा, “हाथरस में हैवानियत झेलने वाली दलित बच्ची ने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। दो हफ्ते तक वह अस्पतालों में जिंदगी और मौत से जूझती रही। हाथरस, शाहजहांपुर और गोरखपुर में एक के बाद एक रेप की घटनाओं ने राज्य को हिला दिया है”।

वहीं अपने दूसरे ट्वीट में प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, “यूपी में कानून व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है। महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है।अपराधी खुले आम अपराध कर रहे हैं। इस बच्ची के क़ातिलों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। @myogiadityanath उप्र की महिलाओं की सुरक्षा के प्रति आप जवाबदेह हैं”।

वहीं, ऑल इंडिया महिला कांग्रेस ने कहा, “हाथरस की 19 साल की दलित गैंगरेप पीड़िता ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। भाजपाई राज में रत्ती भर भी महिला सुरक्षा नहीं बची है। हर रोज यूपी में महिला अत्याचार की घटनाओं में केवल लीपापोती होती है। न्याय नहीं मिलता। आदित्यनाथ कहते हैं, यूपी में अपराध न्यूनतम है।”

आप नेता संजय सिंह ने कहा, “योगी जी आपकी सरकार कहां है? छोटी-छोटी बच्चियों के साथ बलात्कार करके उनकी निर्मम हत्या कर दी या SSP रंगदारी मांगता है, नहीं मिलने पर हत्या करा देता है। अभी भी खुलेआम घूम रहा है। हाथरस की गुड़िया तो इस दुनिया से चली गई योगी जी और कितनी गुड़िया ऐसी दरिंदगी का शिकार होंगी?”


वहीं, शिवसेना नेत्री प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, “दर्दनाक! हैवानियत की हद्दों को पार करने वाली ये दुर्भाग्यपूर्ण घटना के सभी आरोपियों को सख्त सजा मिले, यह सरकार से मांग है। यूपी सरकार के मीडिया सलाहकार और स्पेलिंग मास्टर दूसरों को ट्रोल करने की बजाय और पुराने स्क्रीन्शॉट ट्वीट करने से ध्यान हटाकर इंसाफ़ के लिए लड़ेंगे, यह उम्मीद है।”

From around the web