यूपी का वो पहला शख्स जिसने सुशांत से प्रेरणा लेकर चांद पर खरीदी जमीन, बताया ये वजह

 

रिपोर्ट : रितिका आर्या

नई दिल्ली : ताजनगरी आगरा के एक युवक ने अभिनेता सुशांत राजपूत से प्रेरणा लेकर चांद पर जमीन खरीदी है। चांद पर जमीन खरीदने के बाद वो उत्तर प्रदेश में चांद पर जमीन खरीदने वाले पहले आदमी बन गए हैं। बता दें, लॉकडाउन के दौरान हुई अभिनेता सुशांत राजपूत की मौत के बाद उनके प्रशंसक यानी आगरा के रहने वाले युवक ने उनसे प्रेरणा लेकर चांद पर जमीन खरीद ली है। उनका कहना है कि भविष्य किसी ने नहीं देखा है और यह जमीन उन्होंने अपने परिवार के भविष्य के लिए खरीदी है। मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने चांद पर जमीन खरीदने के बारे में पूरी जानकारी साझा की है।

सुशांत के बहुत बड़े फैन हैं गौरव

गौरव का कहना है की वो सुशांत राजपूत के बहुत बड़े फैन हैं। विदेश में रहकर उन्होंने उनकी हर आदत और स्टाइल पर नजर रखी है और उनकी हर फिल्म कई कई बार देखी है। सुशांत राजपूत की असमय मौत से उन्हें काफी दुख पहुंचा था। उन्हें सुशांत राजपूत के द्वारा चांद पर जमीन खरीदने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद जब उन्होंने इंटरनेट पर चेक किया तो बिहार और हैदराबाद के दो लोगों के अलावा शाहरुख खान की एक ऑस्ट्रेलिया निवासी फैन द्वारा चांद पर जमीन खरीदने की जानकारी हुई। जब उन्होंने देखा कि आजतक यूपी में किसी ने चांद पर जमीन नहीं खरीदी तो उन्होंने चांद पर जमीन खरीदने का विचार बना लिया।

यूएस की संस्था पर है जमीन बेचने के राइट्स

यूएस की संस्था लुनार के पास चांद पर जमीन बेचने के राइट्स हैं। उन्होंने संस्था से संपर्क किया और तीन माह की मेहनत के बाद उनके सारे डाक्यूमेंट्स सम्मिट हो पाए और उन्हें चांद पर जमीन के कागजात मिल पाए। उन्होंने बताया कि चांद पर जमीन के लिए उन्हें डॉलर्स में पेमेंट करना पड़ा। लगभग भारतीय 55 हजार रुपये में उन्हें चांद पर जमीन मिल गयी। इस दौरान जो डाक्यूमेंट्स और अन्य प्रोसेस थे वो काफी जटिल थे। तीन माह के बाद आखिरकार चांद पर उनकी जमीन हो गयी। सबसे ज्यादा दिक्कत यह आई कि पेमेंट के लिए भारतीय कार्ड एक्सेप्ट नहीं हो पा रहे थे तो उन्होंने यूएस के अपने एक साथी की मदद ली, तब जाकर उनका पेमेंट हो सका।

गौरव ने बताया कि भविष्य किसी ने नहीं देखा है और यह जमीन पर हो सकता है वो जा भी न पाएं पर भविष्य में अगर चांद पर घर बनाने का मौका आया तो सबसे पहले उन्हें मौका मिलेगा, जिनकी चांद पर जमीन है। अभी भले ही वो कुंवारे हैं। परिवार में माता पिता और बहन हैं पर भविष्य में उनके बच्चे चांद पर जा सकेंगे।

From around the web