गौशाला के नाम पर सरकार से की जा रही लाखो रुपये की ठगी, दम तोड़ने को मजबूर दर्जनभर से ज्यादा गोवंश

 

रिपोर्ट : आमिर क़ादरी

नई दिल्ली : गायों की सुरक्षा को लेकर योगी सरकार लगातार कई योजनाएं बना रहीं हैं, जिससे उन्हें सुरक्षित रखा जा सकें। इसके लिए सीएम योगी गौशालाएं का निर्माण करवा रहें है। वे गौपालकों का नियुक्ति कर रहे है। उनके लिए हर तरह की सुविधा मुहैया कराने के लिए लाखों का फंड दे रहे है। लेकिन वहीं आगरा के एक गौशाला में सरकार से गायों की सेवा के नाम पर लाखों रूपये की ठगी की जा रही है।

यह दृश्य है, आगरा के चीत गौशाला का, जहां दर्ज़न भर से ज्यादा गोवंश दम तोड़ने को मजबूर है। वैसे तो ये जिले की सबसे बड़ी गौशाला के नाम से जाना जाता है, जो हैं तो सबसे बड़ा लेकिन यहां गायों की सुविधा के नाम पर कुछ नहीं है, जिससे 17 गौ वंश दम तोड़ने को मजबूर है। आपको बता दें कि गोशाला में कमजोर गोवंश को ठंड से बचाने के कोई इंतजाम नही है।

वहीं किसान श्याम सिंह चाहर ने प्रशासन की अनदेखी का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि प्रशासन की अनदेखी के चलते गौशाला गायों का शमशान घर बन गया है। सरकार द्वारा चीत गोशाला के नाम पर लाखों रुपये खर्च करने के बावजूद गायों के लिए कोई सुविधा नही है।

बता दें कि इससे पहले भी कई गौशालाओं के वीडियो वायरल हो चुके है, जिसमें गायों की बेदम होती ज़िंदगी की कई तस्वीरें सामने आ चुकी है। हालांकि इसके बावजूद भी गौशाला में किसी तरह का कोई सुधार नहीं हुआ है। आपको बता दें कि यह मामला यूपी के जिला आगरा के थाना खेरागढ़ के गांव चीत गौशाला का है।

From around the web