Hathras: छावनी में बदला पीड़िता का गांव, इस तारीख तक नहीं हो सकेगी इंट्री

 

रिपोर्ट : रितिका आर्या

नई दिल्ली : हाथरस में हैवानियत का शिकार हुई पीड़िता के गांव को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। बाहरी लोगों को गांव में प्रवेश की इजाजत नहीं दी जा रही है। मामले की गंभीरता को देखते हुए जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। बता दें, निर्भया का केस लड़ने वाली वकील सीमा भी पीड़ित के परिजनों से मिलने के लिए उनके गांव गई थी। जहां उन्हें रोक दिया गया। कहा जा रहा है की इस दौरान एडीएम ने उनके साथ बदसलूकी भी की।

परिवार से मिलने जा सकते हैं आठवले

माना जा रहा है आज केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री रामदास आठवले ने पीड़ित के परिजनों से मुलाकात करने जा सकते हैं। इस घटना को लेकर उन्होंने कहा की इस घटना के आरोपियों को जल्द से जल्द और कठोर से कठोर सजा मिलनी चाहिए। आठवले ने कहा की वह इस मुश्किल की घड़ी में परिवार के साथ रहकर उसका साथ देना चाहते हैं। वह परिवार को ये भरोसा दिलाना चाहते हैं की वो (परिवार) अकेला नहीं है बल्कि उनके साथ पूरा परिवार है।

योगी से मिलेंगे रामदास अठावले

पीड़ित के परिवार से मिलने के साथ ही आठवले 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्यपाल से मुलाक़ात भी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से पीड़ित पक्ष को सुरक्षा और आर्थिक सहायता मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस घटना ने समूची मानव जाति कलंकित हो गई है। दलितों पर बढ़ते अत्याचार को लेकर आठवले ने कहा की दलितों के उपर उत्याचार लगातार बढ़ता जा रहा है। इन बढ़ती हुई घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए सरकार के साथ ही प्रशासन को भी सख्त कदम उठाने होंगे।

From around the web