हाथरस पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, युवती से सामूहिक दुष्‍कर्म मामले में आरोपी हुए गिरफ़्तार

 

रिपोर्ट- सुनील कुमार

हाथरस: उत्तर प्रदेश के जनपद हाथरस के थाना कोतवाली चंदपा क्षेत्र के गांव बुलगढ़ी का है, बीते 14 सितंबर को खेत मे चारा काटते समय गांव के 4 दबंगो ने बाल्मीकि समाज की युवती के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम देते हुए, चारो युवकों ने युवती का उसी के दुपट्टे से गला घोंटकर जान से मारने की कोशिश की। जिसमे थाना कोतवाली चंदपा पुलिस ने घटना में शामिल चारो नामजद आरोपी युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

बता दें कि घटना के बाद बाल्मीकि समाज की युवती को गंभीर हालत में परिजन थाना कोतवाली चंदपा लेकर पंहुचे, यहां पीड़ित युवती ने थाना पुलिस को बयान देते हुए बताया की उसके गांव के एक युवक ने खेत मे चारा काटते समय जान से मारने की कोशिश की है। इस थाना कोतवाली के तत्कालीन थाना प्रभारी रहे दिनेश कुमार वर्मा ने पीड़िता के बयान पर एक आरोपी को नामजद के करते हुए मुकदमा दर्ज कर पीड़ित को जिला अस्पताल में भर्ती कराया जंहा से पीड़िता को गंभीर हालत में अलीगढ़ मेडिकल के लिए रेफर कर दिया, वंही थाना पुलिस ने नामजद आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

उसके बाद जब मामले में कुछ दलित संगठन और राजनेतिक दलों ने हस्तक्षेप करते हुए किया तो सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल होने लगा की हाथरस में एक बाल्मीकि युवती के साथ सामुहिक दुष्कर्म करते हुए जीव काटी, इसमें सोचने वाली बात यह है की अगर युवती की जीभ काट दी गई थी। तो उसने अलीगढ़ मेडिकल जाने से पहले पुलिस को बयान कैसे दिया और थाना पुलिस ने किस आधार पर मुकदमा दर्ज किया, बाद में पुलिस ने फिर से पीड़िता के बयान का हवाला देते हुए मुकदमे को सामुहिक दुष्कर्म सहित जान से मारने की धाराओं और एसटीएससी एक्ट में मुकदमा दर्ज करते हुए, पहले जेल भेजे गए युवक सहित घटना में गांव के ही 4 युवकों को नामजद किया गया। इसमें घटना के बाद से लेकर 26 सितंबर की शाम तक नामजद चारो आरोपियों को थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

From around the web