गाजियाबाद पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 100 से अधिक पुलिसकर्मियों ने निकाली सटीक जानकारी

 

रिपोर्ट : राजन कुमार

गाजियाबाद : 27 अक्टूबर को गाजियाबद इलाके से गायब हुए व्यापारी पराग घोष मामले में गाजियाबाद पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। आपको बता दें कि 24 घंटे तक अपने पति के घर पर ना आने के कारण पराग घोष की पत्नी ने 28 अक्टूबर को थाने में उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिसके बाद गाजियाबाद पुलिस ने उन्हें खोजने के लिए दिन-रात एक कर दी और अंत में उन्हें कोलकाता से बरामद किया।  

एसएसपी गाजियाबाद श्री कलानिधि नैथानी ने बताया कि 28 अक्टूबर को पराग घोष अपनी कार में घर से निकले थे, जो 24 घंटे बीत जाने के बाद भी अपने घर नहीं पहुंचे। जिसके बाद उनकी पत्नी इस मामले में थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाया। एसएसपी ने बताया कि तहरीर को ध्यान में रखते हुए पराग घोष की खोज में 5 से अधिक टीमें और 100 से अधिक पुलिसकर्मियों को लगाया गया था, जिन्होंने सटीक जानकारी निकाली।

उन्होंने बताया कि इस दौरान करीब 500 से अधिक सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए थे, जबकि 500 से अधिक कॉल डिटेल्स को खंगाले गये थे, जिसमें उन्हें बड़ी कामयाबी हाथ लगी। एसएसपी ने आगे बताया कि 27 को दिल्ली जाते समय उनकी फुटेज कमरे में कैद हो गई। इसके बाद उन्हें 28 को दिल्ली में देखा गया। 29 को पंजाब-हरियाणा होते हुए वे हिमाचल पहुंचे।

कलानिधि नैथानी ने आगे बताया कि 3 तारीख को हिमाचल से दिल्ली लौटते हुए पराग कोलकाता पहुंचे, जिसकी जानकारी गाजियाबाद पुलिस को मिली। उन्होंने कहा कि इस जानकारी के सामने के बाद गाजियाबाद पुलिस की टीमें फ्लाइट द्वारा रवाना होकर आज 6 तारीख को प्रातः काल में इनको सकुशल बरामद कर लिया।

उन्होंने बताया कि प्राथमिक पूछताछ में व्यापारी ने स्वयं अपनी इच्छा से घर से चले जाना व अपनी फाइनेंसियल स्थिति का हवाला दिया हैं।

From around the web