रामपुर में झोलाछाप डॉक्टर के इंजेक्शन से मरीज की मौत पर परिजनों का हंगामा

 

रिपोर्ट -रितिका आर्या

उत्तर प्रदेश के रामपुर में झोलाछाप डॉक्टर के इंजेक्शन से हुई मरीज की मौत के बाद हंगामा देखने को मिला। यहां टांडा में जब एक झोलाछाप डॉक्टर ने मरीज को इंजेक्शन लगाया तो उसकी मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों ने डॉक्टर के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। गुस्साए परिजनों पर पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया। इस लाठीचार्ज में कई लोग चोटिल हो गए। उसके बाद गुस्साए मृतक के परिजन तहसील टांडा से रामपुर डीएम आवास पहुंचे और वहां पर डीएम से मुलाकात करने के बाद उन्होंने अपनी पीड़ा बताई। पीड़ित के परिजनों द्वारा झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए तहरीर भी दी है।

बता दें, टांडा के उमेश कुमार की कुछ तबीयत खराब थी। जिसके बाद उमेश कुमार को गांव के ही एक झोलाछाप डॉक्टर के यहां ले जाया गया लेकिन जब डॉक्टर ने उमेश को इंजेक्शन  लगाया तो उसकी मौत हो गई। मरीज की मौत के बाद परिजनों का गुस्सा चढ़ गया और उन्होंने झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ हंगामा किया। परिजनों द्वारा टाण्डा पुलिस को इस मामले से अवगत भी कराया गया लेकिन पुलिस ने जब कोई कार्यवाही नही की तो गुस्साये परिजनों ने हंगामा किया। हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया। इस लाठीचार्ज में कई लोग चोटिल हो गए। मृतक के परिजनों ने जिलाधिकारी से मुलाकात कर झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

इस मामले पर जिला अधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने बताया है कि इन लोगों से तहरीर लेकर जो कानूनी कार्रवाई होगी वो की जाएगी। अधिकारी ने कहा कि डीएम ने कहा मैंने इसमें सख्त से सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए है।

वहीं पुलिस द्वारा लाठीचार्ज के सवाल पर डीएम ने कहा है कि मेरी एसपी साहब से बात हुई है एसपी साहब खुद इस मामले की जांच करेंगे। डीएम ने कहा मैं सीएमओ से भी कहूंगा कि ऐसे झोलाछाप डाक्टर के खिलाफ अभियान चलाकर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

From around the web