बदायूं गैंगरेप मामले में यूपी पुलिस की बड़ी कामयाबी, फरार बाबा हुआ गिरफ्तार, छिपा था...

 

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के बदायूं के एक मंदिर में हैवानियत की घटना को अंजाम देने वाले बाबा को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वह पिछले दो दिनों से फरार चल रहा था। हालांकि गांव वालों की खबर और पुलिस की सतर्कता से उस हैवान बाबा को गुरूवार देर रात गिरफ्तार कर लिया गया। जिलाधिकारी प्रशांत कुमार ने बताया कि गुरुवार आधी रात को महंत सत्य नारायण को उघैती पुलिस थाना क्षेत्र के एक गांव में उसके एक अनुयायी के घर से गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

आपको बता दें कि इस शर्मनाक घटना को लेकर सीएम योगी ने घटना में संलिप्त सभी लोगों पर जल्द कार्रवाई करने की बात कहीं। वहीं उन्होंने बदायूं की वारदात को गंभीरता से लेते हुए बरेली जोन के अपर पुलिस महानिदेशक से रिपोर्ट तलब की। बता दें कि सीएम योगी ने कहा था कि अगर इस मामले में NSA यानी विशेष कार्य बल की जरूरत पड़ती हैं तो आप उनसे मदद लें, लेकिन दोषियों को किसी कीमत पर नहीं बख्शा जायेगा।

दरअसल, पिछले रविवार को बदायूं जिले के उघैती थाना क्षेत्र के एक गांव में मंदिर गई 50 वर्षीय एक महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। महिला के परिजन ने मंदिर के महंत सत्य नारायण और उसके दो साथियों पर बलात्कार और हत्या का आरोप लगाया है। इस आधार पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद वेद राम और जसपाल को मंगलवार रात गिरफ्तार कर लिया गया था। महंत फरार था और उसे गिरफ्तार करने के लिए चार टीम गठित की गई थीं।

आपको बता दें कि इस मामले में लापरवाही बरतने पर तत्कालीन थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा के अनुसार, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला से बलात्कार की पुष्टि हुई है। जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर यशपाल सिंह ने कहा कि महिला की मौत सदमे और अत्यधिक रक्तस्राव की वजह से हुई है। बता दें कि इस घटना ने एकबार फिर महिला सुरक्षा को लेकर योगी सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। इस घटना के बाद एकबार फिर लोगों को अखिलेश सरकार की याद ताजा हो आईं, जिनके सरकार में भी महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस करती थीं।

अब देखना यह है कि योगी सरकार महिला सुरक्षा को लेकर कौन सा कदम उठाती है।  

From around the web