हाथरस गैंगरेप आरोप को ADG ने बताया बेबुनियाद, कहा सरासर गलत

 

नई दिल्ली : यूपी के हाथरस में लड़की के साथ हुए बलात्कार के बाद मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है, जिसे लेकर योगी सरकार की भी काफी आलोचना हो रही है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस लगातार योगी सरकार पर हमलावर रुख अपनाये हुए है। आपको बता दें कि अपने इसी रूख को लेकर 1 अक्टूबर को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने को निकली, लेकिन उन्हें रास्ते में ही रोक दिया गया।

वहीं दूसरी तरफ हाथरस गैंगरेप मामले पर यूपी के ADG प्रशांत कुमार ने कहा कि दिल्ली में पीड़िता के किए गए पोस्टमार्टम में मृत्यु का कारण गले में चोट होने के कारण उसके दौरान हुआ ट्रॉमा है। फोरेंसिक रिपोर्ट में स्पष्ट किया गया है कि सैंपल्स में किसी तरह के स्पर्म और शुक्राणु नहीं पाए गए। वहीं उन्होंने कहा कि स्थानीय पत्रकारों द्वारा पीड़िता का एक वीडियो आज सामने आया है जिसमें पीड़िता ने अपनी जीभ भी दिखाई है। जहां तक जीभ काटने और कटने की बात थी वो सरासर गलत थी।

आपको बता दें कि हाथरस गैंगरेप मामले में यूपी पुलिस की जमकर लापरवाही सामने आई थी, जिस दौरान पुलिस ने बिना परिजन के अनुमति की पीड़ित लड़की का दाह-संस्कार कर दिया था। बता दें कि इस दौरान यूपी पुलिस का एक फोटो भी जमकर वायरल हो रहा था, जिसमें वो हंसती हुई नजर आ रहें थी। अब सोचने वाली बात यह है कि आखिर शव संस्कार के बाद यूपी पुलिस क्यों हंस रही थी।

From around the web