बुलंदशहर में जहरीली शराब पीने से 5 की मौत, सीएम ने दिया ये बड़ा आदेश 

 

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में सिकंदरबाद के गांव जीतगढ़ी में जहरीली शराब ने जमकर कहर बरपाया है। बुधवार शाम गांव के करीब एक दर्जन लोगों ने शराब खरीद कर पी। जिसके बाद रात से ही सभी की हालत बिगड़नी शुरू हो गई। जहरीली शराब पीने से पांच लोगों की मौत हो गयी और सात की हालत नाजुक बनी हुई है। पांच की मौत के बाद पूरे गांव में कोहराम मचा हुआ है। अभी तक शराब बेचने वाला कोई भी पकड़ में नहीं आया है।  इस मामले में बेहद ही गंभीरता से लेते हुए एसएसपी ने इंस्पेक्टर सहित तीन को निलंबित कर आरोपियों पर एनएसए लगाने के आदेश दिए हैं। वहीं इस मामले में  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दोषियों पर रासुका के तहत कार्रवाई के आदेश दिए हैं। 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि बुलंदशहर जिले के सिकंदरबाद के जीतगढ़ी में मिस इंडिया मार्का की शराब पीने से 4 लोगों की मौत हो गयी। पहले गांव के लोगों ने छिपाया लेकिन बाद में पूछताछ की गयी तो मामले का पता चला। पूरे इलाके में जितने भी लोग किसी भी कारण से बीमार थे, सबको अस्पताल भेजा गया। उसमें 16 लोगों को भर्ती कराया गया है। शराब की सैंपलिंग की जा रही है। गांव के कुलदीप नामक व्यक्ति ने शराब पिलाई थी। उसकी तलाश की जा रही है। करीब 3 से चार लोगों की हालत गंभीर है। इस मामले में चार पुलिसकर्मियों को शिथिलता बरतने पर निलंबित कर दिया गया है जिसमें सिंकदराबाद थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी और दो सिपाही शामिल हैं। मामले की जांच जारी है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

स्थानीय लोगों के अनुसार जिले के गांव जीतगड़ी निवासियों ने दो दिन पहले एक ग्रामीण से शराब खरीदी थी। रात को शराब पीने के बाद यह सभी अपने अपने घर जाकर सो गए। बताया जा रहा है कि आधी रात के बाद इन सबकी हालत बिगड़ने लगी। इनमें से सतीश, कलुआ, रंजीत तथा सुखवाल ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया जबकि बाकी का इलाज चल है। पुलिस और प्रशासनिक टीम गांव पहुंच गई और परिवार से पूरी घटना की जानकारी लेने में जुट गई है। शराब बेचने वाला अभी भी पकड़ से बाहर है।

इस घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दोषियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि दोषियों पर रासुका के तहत कार्रवाई होगी। वरिष्ठ अधिकारियों को तत्काल मौके पर जाकर हर पीड़ित को बेहतर इलाज देने का निर्देश दिया। दोषी डिस्टीलरी के खिलाफ भी कठोरतम कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

From around the web