पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन का हिस्सा हो सकते है राहुल गांधी

 

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहूल गांधी देश में चल रहे किसान आंदोलन का नेतृत्व कर सकते हैं। जानकारी के अनुसार राहुल का इसी सप्ताह में पंजाब के अन्दर चल रहे कृषी कानून विधेयक के खिलाफ आंदोलन में शामिल होने की पूरी संभावना है। वहीं कांग्रेस के एक नेता का कहना है कि फिलहाल रैली की तारीख और जगह तय नहीं हुए हैं। वहीं आगे उन्होंने बताया कि पंजाब के बाद हरियाणा में भी विरोधी रैली को संबोधित करने का विचार है ,लेकिन जहां तक अनुमान लगाया जा रहा है कि वहां पर कांग्रेस की सरकार न होने के कारण राहुल को प्रवेश देना टेढ़ी खीर लग रही है।

गौरतलब है कि देश में कई हिस्से में कृषी विधेयक के विरोध में आंदोलन अपना ज़ोर पकड़ रहा है। कांग्रस पार्टी इस कानून के विरोध में किसान के साथ सड़को पर उतरकर कहीं रेलवे ट्रैक पर उतर आए हैं तो कहीं सड़कों पर उतर कर ट्रैफिक जाम कर विरोध की आग को हवा दे रहे हैं। दूसरी ओर शिरोमणि अकाली दल नेता सुखबीर सिंह ने शनिवार को प्रेस वार्ता के दौरान बातचीत में साफ कहा कि अब उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्सा नहीं है। सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि यह पार्टी के कई सदस्यों की ओर से निर्णय लिया गया है। अब यह औपचारिक हो चुका है कि गठबंधन टूट चुका है।

आपको बता दें कि कृषि बिल के खिलाफ मोदी सरकार को काफी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। इसी बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सभी कृषि विधेयकों को अपनी मंजूरी दे दी है।बता दें कि राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद से ही ये तीनों कृषि विधेयक अब एक्ट यानि कानून बन गए हैं। गौरतलब है कि इस विधेयकों को कुछ दिनों पहले ही लोकसभा और फिर राज्यसभा में पास किया गया था। दोनों सदनों से पास किये जाने के बाद इन विधेयकों को राष्ट्रपति के पास मंजूरी के लिए भेजा गया था.

From around the web