शिवसेना ने मुखपत्र सामना में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर किया बड़ा वार

 

नई दिल्ली: शिवसेना ने मुखपत्र सामना में हाथरस मामले को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर वार किया है। सामना ने लिखा ये कैसा हिंदुत्व है कि जब एक अभिनेत्री का अवैध निर्माण तोड़ा जाता है तो इसकी जोरदार आलोचना की जाती है लेकिन जब एक लड़की के साथ रेप और हत्या कर दी जाती है तो आवाज तक नहीं उठाई जाती।

राहुल गांधी का भी जिक्र

सामना संपादकीय में कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का भी जिक्र किया गया है। संपादकीय में ये लिखा गया है पीड़ित लड़की के परिजनों से मिलने जा रहे कांग्रेस अध्यक्ष को न सिर्फ रोका गया बल्कि उनका कॉलर पकड़कर उनसे धक्का-मुक्की कर जमीन पर गिरा दिया। संपादकीय में कहा गया है की देश के प्रमुख विपक्षी दल के नेता के साथ ऐसा व्यवहार और उनका अपमान लोकतंत्र के साथ ‘गैंगरेप’ होने जैसा हैं।

PM Modi और CM Yogi पर हमला

PM Modi और CM Yogi पर हमला करते हुए सामना ने लिखा, “योगी आदित्यनाथ संन्यासी हैं, वह भगवा कपड़ा पहनकर घूमते हैं, प्रधानमंत्री मोदी तो फकीर हैं लेकिन पीएम मोदी को दुनिया की सर्वोच्च दर्जे की सुरक्षा प्राप्त है. योगी को भी बड़ी सुरक्षा मिली हुई है”। सीएम योगी पर तंज कसते हुए सामना में लिखा है। एक बार जब अखिलेश सरकार ने योगी की सुरक्षा हटाई, तो संसद के सभागृह में यही योगी महाराज आंसू बहा रहे थे। लेकिन आज इन्हीं योगी की सरकार में अबलाएं और माताएं सुरक्षित नहीं हैं। बलात्कार जैसी घटना की शिकार युवतियों की लाश को पुलिस द्वारा पेट्रोल डालकर जलाया जा रहा है। यह नराधमी कृत्य हिंदुत्व की किस परंपरा के अंतर्गत आता है? लाश का अपमान नहीं किया जाना चाहिए, लाश का सम्मानपूर्वक अंतिम संस्कार होने का अधिकार है।

From around the web