महाराष्ट्र : 10 नवजात बच्चों की आग में झुलसने से मौत, पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने जताया दुख

 

नई दिल्ली : महाराष्ट्र के भंडारा जिले में सरकारी अस्पताल की एक बड़ी लापरवाही ने 10 नवजात बच्चों की जान ले ली, जिनकी मौत आग में झुलसने से हो गई। हालांकि यह आग कैसे और कब लगा इसे कोई नहीं जानता। खबरों की मानें तो यह घटना देर रात तकरीबन 2 बजे की है, जिस दौरान यह घटना घटी। शनिवार देर रात एक नर्स को इस वार्ड से धुआं निकलता हुआ दिखाई दिया। इसे देखकर उसने तुरंत अस्पताल के इस वार्ड में जाकर नवजात को बचाने की पुरजोर कोशिश की।

इस बीच 10 नवजात बच्‍चों का शरीर आग से झुलसकर काला पड़ चुका था और एक नवजात के बदन पर जलने के निशान दिखाई दिए। 17 में से 7 नवजात सही सलामत हैं। वार्ड में आग लगने की वजह शार्ट सर्किट बताई जा रही है। वहीं दूसरी तरफ नवजात बच्चों की इस दर्दनाक मौत के बाद उनके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। अस्पताल के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो गई है। लोग आग लगने की घटना के लिए अस्पताल प्रशासन को जिम्मेवार ठहरा रहे है। इसके साथ ही वे घटना की जांच किये जाने की मांग कर रहे हैं।

महाराष्ट्र के इस घटना पर पीएम मोदी ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि महाराष्ट्र के भंडारा में दिल दहला देने वाली त्रासदी है, जहां हमने कीमती युवा जीवन को खो दिया। मेरे विचार सभी शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मुझे उम्मीद है कि घायल जल्द से जल्द ठीक हो जाएंगे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि महाराष्ट्र के भंडारा में हुए अग्नि हादसे में शिशुओं की असामयिक मृत्यु से मुझे गहरा दुख हुआ है। इस ह्रदय विदारक घटना में अपनी संतानों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना।

वहीं गृह मंत्री महाराष्ट्र के भंडारा ज़िला अस्पताल के सिक न्यूबॉर्न केयर यूनिट (SNCU) में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत हुई है। महाराष्ट्र के भंडारा ज़िला अस्पताल में लगी आग दुर्घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्‍त परिवारों के साथ हैं। भगवान उन्हें इस अपूरणीय क्षति को सहन करने की शक्ति दे।

इस घटना के संबंध में भंडारा जिला कलेक्टर संदीप कदम ने कहा कि रात को करीब डेढ़ से दो बजे के बीच में सिक न्यूबॉर्न केयर यूनिट (SNCU) में आग लगने से 10 बच्चों की मौत हुई है और हमने 7 बच्चों को बचाया है। मामले में विस्तृत जाँच की जाएगी और घटना का कारण पता लगाया जाएगा।

आपको बता दें कि इस घटना को लेकर महाराष्ट्र सीएम उद्धव ठाकरे ने जांच करने की बात कहीं है। वहीं महाराष्ट्र स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे ने भंडारा ज़िला अस्पताल में आग लगने की घटना में मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने का ऐलान किया है।

From around the web