म.प्र. : अब एक बार फिर कांग्रेस को याद आये हनुमान, घर बैठ करेंगे हनुमान चालीसा पाठ

 

रिपोर्ट : रितिका आर्या

नई दिल्ली : पहले अयोध्या में राम मंदिर का मामला और अब इसके भूमि पूजन कार्यक्रम को जमकर भुनाया जा रहा है। विपक्षी पार्टियां इस मामले पर भारतीय जनता पार्टी पर लगातार हमलावर है। अयोध्या में 5 अगस्त को मंदिर के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम का आयोजन हो रहा है लेकिन इससे पहले ही मध्यप्रदेश कांग्रेस ने एक बड़ा दांव चला है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने अयोध्या में भूमि पूजन कार्यक्रम से ठीक 1 दिन पहले हनुमान चालीसा का पाठ कर अपनी छवि मजबूत बनाने की कोशिश की है।

आपको बता दें कि अयोध्या में 5 अगस्त को होने जा रहे भूमि पूजन कार्यक्रम से ठीक 1 दिन पहले मध्यप्रदेश में कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने घर में हनुमान चालीसा का पाठ कराने का ऐलान किया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सिंह के अलावा कांग्रेस के नेता, कार्यकर्ता, पदाधिकारी भी अपने घरों या नजदीकी मंदिरों में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए हनुमान चालीसा के पाठ का आयोजन करेंगे। हालांकि कांग्रेस के भगवान प्रेम पर बीजेपी ने प्रतिक्रिया देते हुए नाटक करा दिया है। भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा है कि जो कांग्रेस भगवान राम के अस्तित्व को नकारा करती थी और रामसेतु को काल्पनिक बताया करती थी, वह अब राम नाम का जप कर रही है। अच्छा होगा कि कांग्रेस सिर्फ उपचुनाव के देखते हुए राम को नाम याद ना करें"।

गौरतलब है कि साल 2018 के विधानसभा चुनाव के समय से ही कांग्रेस मध्यप्रदेश में हिंदुत्व के सहारे अपना नाव पार कराने में लगी है। बता दें कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने चुनाव के वक्त खुद को हनुमान भक्त बताया था। जिसके बाद उन्होंने सरकार बनने के बाद राम वन गमन पथ योजना, गौशालाओं के निर्माण की योजना और मंदिरों के सौंदर्यीकरण की योजना से खुद को जोड़ें रखा था।

From around the web