मध्य प्रदेश की चुनावी गणित बिगाड़ सकता है उपचुनाव के परिणाम, जानिए कौन है आगे और कौन है पीछे

 

नई दिल्ली: पिछले दिनों बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के भी कुछ सीटों पर उपचुनाव हुए थे, जिसकी आज गिनती शुरू हो चुंकी है। आपको बता दें कि अभी तक आएं रूझानों के अनुसार बीजेपी बीजेपी 18 सीटों पर आगे चल रही है, वहीं कांग्रेस 8 सीटों पर और बसपा 2 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है।  

अगर हम बीजेपी की बात करें तो, सांवेर से तुलसीराम सिलावट, ग्वालियर से भाजपा के प्रदुम्न सिंह तोमर, अनूपपुर से भाजपा के बिसाहूलाल, सुरखी से भाजपा के गोविंद राजपूत, बमौरी से भाजपा के महेंद्र सिंह सिसोदिया, बड़ा मलहरा से भाजपा के प्रदुम्न सिंह लोधी, ग्वालियर ईस्ट से भाजपा की मुन्नालाल गोयल, डबरा से भाजपा की इमरती देवी,  सुवासरा से भाजपा के हरदीप सिंग डंग, सांची से भाजपा के प्रभुराम, मान्धाता से भाजपा नारायण पटेल, मुंगावली से भाजपा के बृजेन्द्र यादव, नेपानगर से भाजपा की सुमित्रा कासडेकर, बदनावर से भाजपा के राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, अशोकनगर से भाजपा के जसपाल सिंह जज जी, जोरा से भाजपा के सूबेदार सिंह राजोधा आगे चल रहे है।

वहीं भांडेर से कांग्रेस के फूल सिंह बरैया आगे, आगर से विपिन वानखेड़े, सुमावली से कांग्रेस के अजय सिंह कुशवाहा आगे चल रहे है। आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के इन 28 सीटों के परिणाम पर भी शिवराज सरकार की कुर्सी निर्भर है, क्योंकि मध्य प्रदेश के 229 सीटों के हिसाब से बहुमत का आंकड़ा 115 है। जबकि BJP के पास अभी 107 विधायक हैं, वहीं कांग्रेस के पास 87 विधायक है। जिससे BJP को सरकार में रहने के लिए 8 सीट और कांग्रेस को सत्ता में आने के लिए 25 सीटों की आवश्यकता है।

अब देखना यह है कि एमपी के ये 28 सीट कितना कमाल दिखाते है।   

From around the web