सावधान! कोरोना के बाद देश में इस खतरनाक बीमारी को लेकर हाई अलर्ट

 

मध्य प्रदेश: अचानक एक सप्ताह से कौओं की मौत से हड़कंप मच गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इंदौर से 50 मृत कौएं के जो सेम्पल भेजे गए थे, उनमें एवियन फ्लू के स्ट्रेन मिलने की पुष्टि हुई है। वहीं, मंदसौर और खरगौन जिलों से मृत कौओं के सेम्पल्स भोपाल में हाई सिक्योरिटी एनीमल डिसीज लेबोरेट्री (HSADL) भेजे गए। जिसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी नहीं आई है। बता दें कि राज्य के कई हिस्सों में एवियन फ्लू (बर्ड फ्लू) को लेकर डर फैला हुआ है। वहीं, एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस के संक्रमण को देखते हुए पूरे राज्य में अलर्ट है।

बताया जा रहा है कि इंदौर चिड़ियाघर में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। यहां डिसइंफेक्शन के लिए सभी जरूरी कदम उठाने के लिए कहा गया है। वहीं, इंदौर में जिला स्वास्थ्य विभाग ने डेली कॉलेज के परिसर के आसपास एक किलोमीटर के क्षेत्र में डोर टू डोर सर्वे कराया है। बता दें कि इसी कॉलेज के परिसर से सबसे ज्यादा मरे हुए कौए पाए गए थे। वहीं, अधिकारियों के मुताबिक क्षेत्र में रहने वाले लोगों में कहीं भी लक्षण नहीं पाए गए, सिर्फ दस लोगों को ठंड और खांसी की शिकायत पाई गई।

 जंगलेश्वर महादेव मंदिर क्षेत्र में रहने वाले लोगों का दावा है कि पिछले तीन दिनों से कसरावाड़ में पेड़ों से कौए मरने के बाद गिर रहे हैं। सामाजिक कार्यकर्ता और स्थानीय लोग मृत कौओं को ढूंढने में वेटरनरी विभाग के अधिकारियों की मदद कर रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मंदसौर में पिछले तीन दिन में 200 से ज्यादा कौए मृत पाए गए। खरगौन के कसरावाड क्षेत्र में पिछले दो दिन में 20 कौए मृत मिले और इनकी संख्या बढ़ने की संभावना है।  इंदौर मे डेली कॉलेज एरिया से 145 कौए मृत मिले हैं। संदेह है कि इन सभी कौओं की मौत H5N8 एवियन फ्लू की वजह से हुई, जिसकी भोपाल में HSDAL को मिले 5 सेम्पल्स में पहचान हुई है। इंदौर से भेजे गए सैंपल में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है।

From around the web