शराब के नशे में चौकीदार ने अपनी बेटी को ही बनाया हवस का शिकार

 
 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

देश में रेप की बढ़ रही घटनाएं ये सोचने पर मजबूर कर देती है की क्या महिलाएं केवल वहशी दरिंदो के जिस्म की भूख मिटाने की वस्तू हैं?, क्या उनकी कोई इज्जत नहीं?, क्या वो भी दूसरों की तरह खुली हवा में सांस ले सकती है?..ये सवाल इसलिए भी क्योंकि पहले निर्भया, फिर हाथरस फिर बलरामपुर और न जाने कितनी ही महिलाएं ऐसे वहशी दरिंदों का शिकार हो चुकी है और न जाने ये सिलसिला थमेगा।

ताजा मामला मध्य प्रदेश के भोपाल शहर का है जहां, 20 साल की लड़की के साथ उसके ही परिचित द्वारा रेप का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है एक 20 साल की लड़की अपने परिचित से एक्टिवा लेकर अपनी सहेली के घर मिलने गई। लेकिन वह दोस्त से मुलाकात के बाद परिचित को दोबारा एक्टिवा देने गई तो उस दौरान युवक अपने दोस्तों के साथ शराब पी रहा था। इस दौरान लड़की को देखकर उनकी नीयत बदल गई और उसने लड़की को छत में ले जाकर उसके साथ रेप किया।

कहा जा रहा है पीड़ित युवती एक मोबाइल शॉप में काम करती है और ये पूरा वाक्या शनिवार रात का है जब वह कपड़ा मार्केट के चौकीदार देव सिंह राठौर से एक्टिवा मांगकर अपनी सहेली से मिलने गई थी। जब युवती अपनी सहेली से मिलकर एक्टिवा वापस करने पहुंची तो उस समय देव सिंह, अपने दो साथियों कालू और आकाश मालवीय के साथ जाम पर जाम लगा रहा था। शराब के नशे में धुत जब देव सिंह ने युवती को देखा तो उसकी नीयत बदल गई और वो युवती को जबरदस्ती बिल्डिंग के अंदर ले जाने लगा। युवती द्वारा इसका विरोध किया जिसके बाद युवक के दोस्तों कालू और आकाश उसे धकेलते हुए छत पर ले गए।

युवती को छत पर ले जाने के बाद कालू और आकाश तो वहां से चले गए लेकिन देव सिंह ने युवती का इज्जत तार-तार करते हुए उसके साथ रेप की घटना को अंजाम दिया। रात को ढाई बजे युवती जब अपने घर पहुंची तो अगले दिन बैरागढ़ पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया गया। पुलिस ने रेप का मामला दर्ज करने के बाद तीनों के ठिकानों पर दबिश दी और सभी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट भी लगाया है।   

From around the web