चीन की मदद से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 और 35 ए को दोबारा लागू करवाएंगे फारूक अब्दुल्ला

 

नई दिल्ली : अनुच्छेद 370 और 35 ए को जम्मू कश्मीर से हटाये हुए तकरीबन 1 साल हो चुंके है, लेकिन अभी भी 370 और 35 ए का जिन्न का कुछ नेताओं के दिमाग से नहीं हटा हैं और वो दोबारा इस अनुच्छेद को लगाने की बात कर रहे है। आपको बता दें कि मोदी सरकार ने सरकार में आने से पहले ये वादा किया था कि वो जम्मू-कश्मीर से ये दोनों अनुच्छेद हटाकर रहेंगे, जिसे उन्होंने 5 अगस्त 2019 को पूरा भी किया।

आपको बता दें कि इस दौरान नजरबंद रहे जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि चीन के समर्थन से जम्मू-कश्मीर में फिर से अनुच्छेद 370 को लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को दोबारा लागू करवाने और जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा दिलवाने के लिए वो प्रतिबद्ध हैं।

बता दें कि इससे पहले संसद के मानसून सत्र के दौरान फारूक अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर में पांच अगस्त 2019 से पहले की स्थिति बहाल करने की मांग की थी। उनका कहना था कि कश्मीर में जो हालात हैं, उस पर बोलेने के लिए हमने संसद भवन में समय मांगा। लेकिन हमको समय नहीं दिया गया है। देश की जनता को पता चले कि वास्तव में लोग कैसे रह रहे हैं और वहां की स्थिति क्या है? क्या वह बाकी मुल्क के साथ आगे बढ़े हैं या पीछे गए हैं?

इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि कश्मीर में अब भी हालात नहीं सुधरे है। जहां पूरे देश में लोग 4जी इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं, 5जी आने वाला है। वहीं जम्मू-कश्मीर में अब भी लोग 2जी से काम चला रहे हैं। अब्दुल्ला ने कहा कि ऐसे में कैसे नौजवान आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि वे यहां के हालात के बारे में देश को बताना चाहते हैं। दूसरे लोगों को जो सुविधा मिल रही है वह हमारे यहां क्यों नहीं दे रहे। हम कैसे आगे बढ़ेंगे। जमाना बदल गया है।

From around the web