बड़ा खुलासा : 2019 के मुकाबले 2020 में अधिक संख्या में आतंकी संगठन में शामिल हुए लोग, आधे से भी कम बचे

 

नई दिल्ली : पाकिस्तान के गोद में पनप रहा आतंकवाद लगातार अपने आतंक से भारत को थर्राने की कोशिश कर रहा है, लेकिन अक्सर उसे अपनी मुंह की खानी पड़ती है। इसे लेकर वो अपना बेचारा वाला मुंह बनाकर अंतर्राष्ट्रीय संगठन के पास जाता है, लेकिन पाक के नापाक चेहरे को जानकर वो भी उसे घुड़क देते है, इसके बावजूद भी चीन के इशारे पर कूद रहा पाक अपने नापाक हरकतों को अंजाम देता रहा है, चाहे वह घुसपैठ का हो, सीज़फायर का।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने जम्मू-कश्मीर में पनप रहें आतंकवादियों को लेकर बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा है कि इस साल 2019 के मुकाबले 2020 में अधिक जनसंख्या में लोग आतंकी संगठन से जुड़े। इसके बावजूद भी भारतीय सेना के लगातार कार्रवाई से उसकी संख्या आधी से भी कम रह गई।

जम्मू कश्मीर के DGP दिलबाग सिंह ने कहा कि 2018-19 के मुकाबले इस साल आतंकवाद से संबंधित घटनाओं में बड़ी गिरावट देखने को मिली है। पिछले साल आतंकवादियों ने 44 बेगुनाह लोगों की जान ली थी जिनकी संख्या इस साल 38 है। पाकिस्तान के इशारे पर आतंकी अभी भी नागरिकों को निशाना बना रहे हैं।

उन्होंने कहा कि 2019 के मुकाबले इस साल टेररिस्ट रैंक्स में शामिल होने वालों की संख्या थोड़ी ज़्यादा रही। सकारात्मक पहलू यह है कि उनमें से 70% लोग ज़्वाइन करने के बाद मारे गए या गिरफ्तार किए गए।

From around the web