ढाई साल बाद हिमाचल सरकार में बड़ा फेरबदल, ढील कतई बर्दाश्त नहीं, जानिए कहां हुए बदलाव

 

रिपोर्ट : प्राची गुलयानी

नई दिल्ली : इस बार हिमाचल की सियासत में पहले से ज्यादा ही उठापटक जारी है। पहले कैबिनेट में अलग-अलग परिस्थितियों पैदाकर तीन मंत्रियों के पद खाली करवाए, उसके बाद अब पोर्टफोलियो में कई बड़े स्तर पर बदलाव किए गए। पहले हिमाचल के मुख्यमंत्री शांता कुमार ने अपने शासन में समानांतर शासन की कोशिश में कुछ मंत्रियों के महकमे में बदलाव कर दिए थे। जिसके बाद ऐसे ही कुछ बदलाव वीरभद्र सिंह ने भी अपने शुरूआती शासनकाल के समय किए थे वीरभद्र सिंह ने अपने कुछ मंत्रियों के महकमें में बड़े बदलाव किए थे। कुछ बदलाव समयनुसार बाद में भी किए गए लेकिन फिर भी वीरभद्र-धूमल सरकारों में इस स्तर पर पोर्टफोलियो नहीं बदले गए। जिस स्तर पर अब बदलाव किया गया है।

बता दें कि राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अपने कैबिनेट मंत्रियों को बार-बार समझाते रहे कि वह काम पर ध्यान दें लेकिन किसी ने उनकी बातों पर ज्यादा गौर नहीं किया, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने सख्त कदम उठाने का फैसला किया। और उन्होंने अपने फैसलों से बता दिया कि वे किसी प्रकार की कोई ढील बर्दाश्त नहीं करेंगे। आपको बता दें कि आज से करीब ढाई साल पहले जयराम सत्ता में आए थे। सत्ता में आने के बाद जयराम ठाकुर ने सबसे पहले अपने सभी 11 मंत्रियों को शपथ दिलाई थी और काम शुरू किया। जयराम ठाकुर ने पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की सरकार की तरह मंत्रियों की कोई कुर्सी खाली नहीं रखी। जयराम कैबिनेट के दो मंत्रियों की कुर्सियां तब खाली हुई जब लोकसभा के चुनाव चल रहे थे।

उसके बाद मंत्रियों के तीन पद खाली चल रहे थे। इन तीन पदों पर राकेश पठानिया, सुखराम चौधरी और राजेंद्र गर्ग को मंत्री बनाया गया। मुख्यंमत्री ने इन महकमों को बांटने के बजाय अपनी पूरी कैबिनेट के मंत्रियों के पदों में उथल पुथल कर दी। जिसके बाद अभी भी कुछ महकमे स्वंय संभाल रहे है तो कुछ मंत्रियों में बांट दिए गए है। आपको बता दें कि हिमाचल में पहले शिक्षा विभाग सुरेश भारद्वाज के पास था जो अब सुरेश भारद्वाज से लेकर गोविंद ठाकुर को दे दिया गया है। इससे पहले गोविंद ठाकुर परिवहन मंत्रालय संभाल रहे थे जो अब बिक्रम सिंह ठाकुर को दिया गया। गोविंद ठाकुर ने वन और युवा सेवाएं एवं खेल विभाग नए मंत्री राकेश पठानिया को सौप दिया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने अपने पास रखे कुछ प्रमुख विभागों में से राजस्व महेंद्र सिंह ठाकुर, स्वास्थ्य डॉ. राजीव सैजल, ऊर्जा नए मंत्री सुखराम चौधरी और स्वास्थ्य राजीव सैजल को दे दिया है।

From around the web