पहले की लड़ाई जब किया पुलिस को फोन तो लगा ली फांसी .....

 

रिपोर्ट : स्वाती सिंह

नई दिल्ली : गुजरात में अपराध बढ़ता ही जा रहा, कहीं चोरी तो कही मर्डर, आलम ये है कि आए दिन कहीं न कहीं से अपराध की घटनाएं सामने आ रही है। अब एक बार फिर से एक ऐसी ही घटना सामने आई जहां एक युवक ने डर के चलते फांसी लगी ली। गौरतलब है कि गुजरात के सूरत जिले के डिंडोली में पड़ोसी महिला से झगड़ा करने वाले युवक ने पुलिस के डर से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। युवक के मन में पुलिस कार्रवाई का ऐसा भय आया की उसने फांसी लगा ली। दरअसल युवक पड़ोसी महिला से झगड़ा कर रहा था, इसी बीच किसी ने पुलिस को फोन कर दिया। जब पड़ोसी ने पुलिस को बुला दिया तो युवक डर गया, कार्रवाई के डर से ज्यादा युवक को बेइज्जती की चिंता थी।

आपको बता दें कि फांसी लगाने का पता चलते ही इलाके में हंगामा मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया। पुलिस जब वहां पहुंची तब तक तो युवक की मौत हो चुकी थी। बता दें कि पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम कराने के लिए भेज दिया। वहीं युवक के बारे में अब पुलिस तहकीकात कर रही है। जानकारी की माने तो डिंडोली में स्थित चित्रभूमि स्कूल के पास रहने वाला 40 वर्षीय प्रवीण पाटिल का पड़ोस में रहने वाली महिला से पानी और बच्चे के मामले पर अक्सर झगड़ा होता था। इसी मुद्दे पर दोनों के बीच एक बार फिर झगड़ा हुआ लेकिन इस बार मामाला ज्यादा गंभीर हो गया। इसी बीच किसी ने पुलिस कंट्रोल रूम में फोन कर दिया।

परिजनों ने बताया कि प्रवीण को जब पता चला कि पुलिस आने वाली है तो वह डरकर कमरे में घुस गया और दरवाजा बंद कर लिया। पुलिस के आने से पहले ही बेइज्जती के डर से प्रवीण ने फांसी लगा ली। परिजनों ने बताया कि प्रवीण को कार्रवाई से ज्यादा लोक-लाज और बेइज्जती की चिंता थी। खैर अब पुलिस इस पूरे मामले को देख रही है। जांच करने के लिए ये ऐसा कोई केस नहीं है इसलिए पुलिस भी इसे नॉर्मल आत्महत्या के मामले के रुप में देख रही है।

From around the web