मुम्बई के बाद अब गुजरात में धराशायी हुई एक और इमारत....

 

वडोदरा: मुम्बई के बाद अब गुजरात से भी इमारत ढ़हने की दर्दनाक घटना सामने आई है। बता दें कि अब गुजरात में वडोदरा के बावामानपुरा में सोमवार को देर रात एक निर्माणाधीन इमारत अचानक से गिर जाती है। जिसमें 3 लोगों की दब कर मौत भी हो चुकी है। जानकारी अनुसार बिल्डिंग में काम चल रहा था। जिसके अन्दर कई मज़दूर काम कर रहे थे। वहीं इस घटना की जानकारकी मिलते ही मौके पर प्रशासन और टीम ने पहुंच कर लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन भी जारी कर दिया है।

दरअसल जब तक ऑपरेशन पूरा न हो जाए तब तक घायल और मृतकों की संख्या का भी अनुमान नहीं लगाया जा सकता है। वहीं स्थानीय लोगों के अनुसार इमारत को बने हुए 30 साल हो चुके थे, जिसकी  मरम्मत के लिए मज़दूर अन्दर लगे हुए थे।   स्थानीय निवासी आगे बताते हैं कि घटना इतनी भयावह थी कि जिस रात बिल्डिंग गिरी उस दिना आस-पास हा-हाकार मच गया। लोगों को ऐसा लगने लगा मानो कोई जोरदार भूकम्प आया हो। अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि मलबे के अन्दर 6 और  मज़दूर दबे हुए हो सकते हैं। फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद ही सब साफ होने की संभावना जताई जा रही है। वहीं दूसरी ओर निवासियों ने  ये भी बताया कि जिस इमारत में हादसा हुआ वो इमारत पहले से ही झुकी हुई थी, जिसकी स्थानीय लोगो ने कार्रवाही के लिए प्रशासन को सूचित भी किया लेकिन कुछ सख्त ऐक्शन नहीं लिया गया।

इससे पहले भी गुजरात में ऐसे कई मामले सामने आए हैं। हाल ही में अहमदाबाद में भी 1 महीने पहले 1 व्यवसायिक भवन के गिरने से 3 व्यक्तियों के दबने की सूचना मिली थी जिसमें कि बाद रेस्क्यू ऑपरेशन द्वारा 2 को सुरक्षित निकाल लिया था। लेकिन 1 की मौत हो गई थी। आपको बतादें देश के कई हिस्सों में प्रशासन की ऐसी लापरावाही के मामलों इज़ाफा बेशक हो रहा है, लेकिन उसके रोकथाम को लेकर सभी अपनी आंखों पर पट्टी बांध मौत का तमाशा देख रहे हैं। हाल ही में महाराष्ट्र के मुम्बई के भिवंडी में कुछ दिन पहले तीन मंजिला इमारत ढह गई । जिसमें अब तक मरने वालों की संख्या गुरुवार को बढ़कर 41 हो गई। पुलिस ने बताया कि मृतकों में 18 बच्चे भी शामिल हैं, जिनकी उम्र दो से लेकर 15 वर्ष के बीच है। अधिकारी ने बताया कि अभी तक 25 लोगों को मलबे से जिंदा बाहर निकाला गया है।

From around the web