दिल्ली के यमुना नदी में दिखे जहरीले झाग, और हुई बेहद खतरनाक हवा

 

नई दिल्ली: दीपावली के नजदीक आते-आते दिल्ली की हवा और बेहद खराब होती जा रही है, जहां बुधवार को इस प्रदूषण ने राहत दी थी, वहीं गुरूवार को एक बार फिर दिल्ली समेत आस—पास के इलाकों में हवा की गुणवत्ता बेहद खराब रिकॉर्ड किया गया। आपको बता दें कि दिल्ली में AQI 385, गुरूग्राम 297 और नोएडा में 387 AQI दर्ज किया गया।  

आपको बता दें कि कोरोना काल के दौरान साफ दिखा यमुना नदी अब और भी अधिक प्रदूषित हो चुंकी है, जिससे अब जहरीले झाग निकलने लगा है। बता दें कि यह दृश्य दिल्ली के कालिंदी कुंज के पास देखा गया। जो देखने में बेहद जहरीले और मानव जीवन के लिए नुकसानदायक दिख रहें थे, खासकर जानवरों के लिए जो अमूमन अपने प्यास को बुझाने के लिए इन नदियों से अपनी प्यास बुझाते है।


आपको बता दें कि एक बार फिर राजधानी दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की वजह से आईटीओ पर स्मॉग की परत छाई दिखी। वहीं अगर हम राहत की बात करें तो, ऐसे खबरें आ रही है की पाकिस्तान की ओर से वायु की दिशा देश की राजधानी दिल्ली की ओर आने से ये प्रदूषण के परत छटते दिखेंगे।

दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत के लंबे समय से मौसम शुष्क है। अब एक प्रभावी वेस्टर्न डिस्टरबेंस कैस्पियन सागर से उठने के बाद ईरान और अफगानिस्तान को पार करते हुए उत्तरी पाकिस्तान के करीब पहुंचने वाला है। इस सिस्टम के 12 नवंबर को जम्मू-कश्मीर के पास आने की उम्मीद है। यह 12 से 16 नवंबर तक दिल्ली समेत उत्तर भारत के पहाड़ों को प्रभावित करेगा। दिल्ली-एनसीआर में भी इसकी वजह से 15 और 16 नवंबर को हल्की बारिश हो सकती है।

विशेषज्ञों की मानें तो यमुना नदी में गंदा झाग वाला पानी बह रहा है, जिससे बीमारी फैलने का खतरा बढ़ सकता है। खासकर जो लोग यमुना के पानी का इस्तेमाल नहाने के लिए करते हैं, उन्हें इससे खतरा है। वहीं खबरों की मानें तो यह झाग यमुना नदी किनारे स्थापित कई कल-कारखानों से निकलने वाले गंदे पानी से है, जिनके गंदे जल यमुना नदी में बह रहे है।

From around the web