दिल्ली उपमुख्यमंत्री का प्रदूषण को लेकर केंद्र सरकार पर बड़ा हमला, कहा कोई काम नहीं किया

 

नई दिल्ली : देश में जारी कोरोना महामारी के दौरान पूरा वातावरण स्वच्छ हो गया था, जिसे लेकर प्रदूषण का पैमाना काफी कम हो गया था। आपको बता दें कि इस संकट के दौरान यमुना हो या गंगा सभी नदियां स्वच्छ हो गई थी। लेकिन इसके बाद जब देश में अनलॉक की शुरूआत हुई तो प्रदूषण का स्तर फिर बढ़ने लगा। जिसे लेकर विभाग ने बड़ा अलर्ट जारी किया है, उन्होंने कहा कि अगर इसे कंट्रोल नहीं किया गया तो प्रदूषण का स्तर फिर बढ़ सकता है।

प्रदूषण के इस बढ़ते स्तर को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि प्रदूषण और खासकर पराली का प्रदूषण ​सिर्फ दिल्ली की समस्या नहीं है, ये पूरे उत्तर भारत की समस्या है। अफसोस की बात है कि केंद्र सरकार ने पूरे उत्तर भारत में पराली के प्रदूषण को नीचे लाने के लिए कोई काम नहीं किया, पूरे साल हाथ पर हाथ रख कर बैठी रहती है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की इस निष्क्रियता का नुकसान सिर्फ दिल्ली को नहीं,पूरे उत्तर भारत के लोगों को उठाना पड़ रहा है। प्रदूषण और कोरोना का खतरा दोनों होने से बहुत जानलेवा स्थिति हो सकती है, इस पर सारी सरकार मिलकर और केंद्र सरकार अपनी ज़िम्मेदारी निभाए।

अब देखना यह है कि उत्तर भारत में बढ़ते प्रदूषण को लेकर केंद्र सरकार अपना कौन-सा रुख अपनाती है।

From around the web