दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर सीएम केजरीवाल का बड़ा बयान, कहा हर साल इस समय सिर्फ शोर होता है

 

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में ठंड के दस्तक के साथ ही स्मॉग का कहर जारी है, जिसने आम लोगों का जिना हराम कर दिया है। वहीं सरकार इन समस्याओं को लेकर खामोश है। हालांकि वे इस प्रदूषण को कंट्रोल करने को लेकर तरह-तरह के प्रतिबंध लगा रहे है, फिर भी समस्या कम होने का नाम नहीं ले रहा। आपको बता दें कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रदूषण को लेकर राजनीति करने का बड़ा बयान दिया है।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि पिछले 10-12 साल से हर साल अक्टूबर और नवंबर में पराली जलने की वजह से पूरा उत्तर भारत परेशान रहता है। इस बारे में अब तक कोई ठोस काम नहीं किया गया था, हर साल बस इस समय शोर होता है, राजनीति होती है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के 24 गांव में बायो-डिकम्पोज़र को छिड़कने के 20 दिन बाद वै​ज्ञानिकों का कहना है कि 70-95% तक डंठल गल चुका था, इससे किसान बहुत खुश हैं। अब समाधान तो निकल गया है, अब बारी सरकारों की है, क्या वो इसको लागू करेंगी?

गौरतलब है कि दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण का प्रमुख कारण हरियाणा, राजस्थान समेत आस-पास के क्षेत्रों में पराली जलाना है, जिसे लेकर कई बार सरकारें आमने-सामने भी आ चुके है। वहीं केजरीवाल ने दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर कहा कि अभी दिल्ली में कोरोना बढ़ रहा है और इसका सबसे बड़ा कारण प्रदूषण है। दिल्ली के लोगों ने पिछले महीने तक कोरोना पर काबू पा लिया था।

From around the web