बिहार चुनाव से पहले सुशील मोदी ने खेला OBC कार्ड, कांग्रेस और RJD पर लगाया धोखाधड़ी का आरोप

 

नई दिल्ली : बिहार विधानसभा के चुनाव का तारीख जिस प्रकार धीरे-धीरे नजदीक आता जा रहा है, उसी प्रकार सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी बिसाते बिछाते जा रही है। एक तरफ जहां महागठबंधन ने सभी सीटों का बंटवारा कर लिया, वहीं एनडीए ने भी अपने सहयोगी पार्टियों के साथ सीटों का बंटवारा किया। इसके कुछ ही घंटों बाद बीजेपी ने उन सीटों का ऐलान कर दिया, की वो किन-किन सीटों पर लड़ने वाली है। अगर हम बीजेपी के सीटों पर गौर करें तो उसमें से अधिकतर सीट बीजेपी की सुरक्षित सीट है, जिससे यह कहा जा रहा है कि इस बार  बीजेपी 60 से 80 सीट जीत सकती है। हालांकि बीजेपी कितने सीटें निकाल पाती हैं, वो तो चुनाव परिणाम बतायेगा, जो 10 नवंबर को आने वाला है।

आपको बता दें कि इससे पहले ही बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने SC/ST का कार्ड खेला है। उन्होंने कांग्रेस और RJD पर अति पिछड़ा वर्ग से धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, RJD ने अति पिछड़ों को हमेशा धोखा दिया है। पिछले विधानसभा चुनाव में BJP ने 25 अति पिछड़ों को टिकट दिया था जिसमें से 12 जीतकर आए थे। कांग्रेस 43 सीटों पर लड़ी थी जिसमें एक भी अति पिछड़े को टिकट नहीं दिया गया था। वहीं RJD ने मात्र 5 को टिकट दिया था।

सुशील मोदी ने कहा कि भाजपा और JD(U) का जो गठबंधन है इसने हमेशा अति पिछड़ों को सम्मान देने का काम किया है। हम लोगों ने बिहार के पंचायत चुनाव में 20 प्रतिशत आरक्षण दिया था। अगर बिहार में आज 1600 मुखिया अति पिछड़ा समाज से जीतकर आए हैं तो ये NDA गठबंधन की देन है। आपको बता दें कि LJP द्वारा NDA छोड़ने से बीजेपी और JDU को अति पिछड़ा वर्गों के वोटों के बंटने का डर है, वहीं LJP के मुद्दे को महागठबंधन भी भुनाने की कोशिश में लगी हैं, की LJP ने सीएम नीतीश का साथ क्यों छोड़ा, खैर बात जो हो, अब देखना यह है कि NDA का OBC कार्ड कितना रंग लाता है।

From around the web