प्रचार में प्याज का आगाज़, तेजस्वी यादव का अनोखा अवतार

 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

प्याज काटते समय तो रोना आता ही है लेकिन इन दिनों प्याज बिना कांटे भी लोगों के आंसु निकल रहे हैं। दरअसल, प्याज की कीमते इतनी उंचाई पर पहुंच गई हैं कि आम आदमी की पहुंत से ये बाहर हो चला है। ये वहीं प्याज है जिसके कारण सत्ता में बैठी केंद्र सरकार को बेघर होना पड़ा था तो वहीं अब एक फिर ये प्याज रानीतिक रंग लेता जा रहा है। दरअसल, बिहार चुनाव के दौरान राष्ट्रीय जनता दल ने महंगाई का मुद्दा एक बार फिर उठाया है। सोमवार को आरजेडी नेता तेजस्वी यादव प्याज की माला लेकर प्रचार में उतरे। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने छोटे व्यापारियों को खत्म कर दिया। तेजस्वी यादव ने सवाल करते हुए पूछा कि खूद महंगाई बढ़ने पर ये (बीजेपी) लोग प्याज का माला पहन कर घूमते थे, लेकिन अब हम उन्हें यह सौंप रहे है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि प्याज की कीमतें 100 रूपए के पार पहुंचने वाली है। एक तो पहले से ही बेरोजगारी ने लोगों की कमर तोड़ रखी है। वहीं दूसरी ओर महंगाई के कारण लोगों के खाने के लाले पड़ रहें हैं। यादव ने कहा कि देशभर में मौजूद लोगों को पूछा तो वहीं जा रहा लेकिन उनपर हमले जरूर किए जा रहे हैं।

बिहार में 60 घोटाले हुए- तेजस्वी

जेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में 60 घोटाले हुए हैं, जिसमें करीब 30,000 करोड़ के खजाने की सेंध मारी गई। आपदा की घड़ी में भी पैसे का कोई हिसाब नहीं मिला। भ्रष्टाचार काफी बढ़ा है, बिना घूस दिए कोई काम नहीं हो पाता। नीतीश जी ने एक परंपरा बना दी है कि एक भी काम बिना चढ़ावे के नहीं हो पाता।

From around the web