एक बार फिर चुनावी सभा के दौरान सीएम नीतीश को करना पड़ा विरोध का सामना, नीतीश ने कहा फेंकने दो

 

नई दिल्ली : चुनाव आयोग द्वारा बिहार विधानसभा चुनाव का ऐलान करने के बाद सीएम नीतीश को लगातार अपने चुनावी सभा के दौरान विरोध का सामना करना पड़ रहा है, जिसे लेकर वो कई बार नाखुश और चिढ़ते भी नजर आएं। आपको बता दें कि एक बार फिर बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के चुनाव प्रचार के दौरान सीएम नीतीश को विरोध का सामना करना पड़ा।

दरअसल मंगलवार को जब बिहार के सीएम तीसरे चरण के चुनाव प्रचार को लेकर मधुबनी के हरलाखी विधानसभा क्षेत्र में पहुंचे, तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा। आपको बता दें कि जब चुनाव प्रचार के दौरान नीतीश रैली को संबोधित कर रहे थे, तब उनपर प्याज और पत्थर का टुकड़ा फेंका गया।

इस दौरान पत्थर फेंकने वाले शख्स ने लगातार नारेबाजी की और कहा कि शराब खुलेआम बिक रही है, तस्करी हो रही है लेकिन आप कुछ नहीं कर पा रहे हैं। इस दृश्य को देखकर सीएम नीतीश के सुरक्षाकर्मियों ने उस शख्स को रोकने का प्रयास किया, लेकिन नीतीश कुमार ने अपने सुरक्षाकर्मियों को रोकते हुए कहा कि फेंकने दो, जितना फेंकना है फेंकने दो।


इसके बाद उन्होंने अपने संबोधन को आगे बढ़ाते हुए कहा कि ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि सरकार आने के बाद रोजगार का अवसर पैदा होगा और किसी को बाहर नहीं जाना पड़ेगा। नीतीश बोले कि जो आज सरकारी नौकरी की बात कर रहे हैं, जब वो सत्ता में थे तो कितने लोगों को रोजगार दिया तब तो काफी वक्त तक बिहार-झारखंड एक ही था।

आपको बता दें कि बिहार में तीसरे चरण का चुनाव 3 नवंबर को होने है, जो 78 विधानसभा सीटों पर होगा। वहीं आज 94 विधानसभा सीटों पर वोट डाले जा रहे है, जिनके परिणाम 10 नवंबर को आने है।

From around the web