बिहार के 16 जिलों में 71 विधानसभा सीटों पर 8 अक्टूबर को होगा नामांकन, दांव पर इन मंत्रियों की साख 

 

नई दिल्ली : बिहार विधानसभा चुनाव होने में अभी 27 दिन शेष है, लेकिन उससे पहले ही नेताओं के बीच गहमागहमी शुरू हो गया है, वो भी सीटों को लेकर । आपको बता दें कि पहले चरण के चुनाव में बिहार के 16 जिलों की 71 विधानसभा सीटों पर चुनाव होने है, जो 28 अक्टूबर को होगा। बता दें कि चुनाव आयोग ने नामांकन दाखिल करने के तारीख का ऐलान कर दिया है, जो 8 अक्टूबर होगा। वहीं 12 अक्टूबर को नाम वापस लेने की तारीख तय है।

आपको बता दें कि 28 अक्टूबर को बिहार में पहले चरण के चुनाव होने है, जो 16 जिलों के 71 विधानसभा सीटों पर होगा। जिनमें से अधिकतर सीटें RJD का दुर्ग माना जाता है। गौरतलब है कि इन सीटों पर 2015 के चुनाव में RJD और JDU ने मिलकर NDA का सफाया कर दिया था। पहले चरण 71 सीटों में से 25 पर आरजेडी का कब्जा है जबकि 21 सीटें जेडीयू के पास हैं। बीजेपी को यहां 14 सीटें मिली थीं और कांग्रेस ने 8 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इसके अलावा जीतनराम मांझी की हिंदुस्तान आवाम मोर्चा को एक, सीपीआई को एक और एक सीट पर निर्दलीय को जीत मिली थी। जबकि एलजेपी को एक भी सीट नहीं मिली थी।

हालांकि इस चुनाव में समीकरण थोड़े बदले हुए नजर आ रहे है, क्योमकि इस बार नीतिश महागठबंधन छोड़कर NDA की अगुवाई कर रहे हैं। वहीं इस बार HAM भी कमल के साथ नजर आ रहा है। इस हिसाब से इन तीनों दलों के पास 36 सीटें हैं जबकि कांग्रेस और आरजेडी का 33 सीटों पर कब्जा है। इससे पहले चरण में तेजस्वी यादव के सामने अपनी सीटों को बचाए रखने की बड़ी चुनौती होगी।

अगर हम नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले NDA की बात करें तो पहले चरण के चुनाव में 7 मंत्रियों की किस्मत का फैसला होना है। इनमें चार जेडीयू कोटे से मंत्री हैं तो तीन बीजेपी कोटे के मंत्री । जिनमें प्रमुख जेडीयू कोटे से मंत्रियों में जमालपुर से जीते शैलेश कुमार, घोसी से जीते कृष्णनंदन वर्मा, राजपुर से जीते संतोष कुमार निराला और दिनारा से जीते जय कुमार सिंह शामिल हैं। वहीं, बीजेपी कोटे वाले मंत्रियों में बांका से राम नारायण मंडल, चैनपुर से बृज किशोर बिन्द, और गया से जीते प्रेम कुमार शामिल हैं।

आपको बता दें कि पहले चरण के चुनाव में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय भी  जिन सीटों से लड़ सकते हैं, वो सीटें भी इसी चरण में शामिल हैं। इसके अलावा कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह की चुनाव सीट कहलगांव में भी पहले चरण में ही चुनाव होने हैं।

प्रथम दौर की 71 विधानसभा सीटें, जिन पर चुनाव होने है, उनमें प्रमुख कहलगांव, सुल्तानगंज, अमरपुर, धोरैया (एससी)बांका, कटोरिया (एसटी), बेलहर, तारापुर, मुंगेर, जमालपुर, सूर्यगढ़, लखीसराय, शेखपुरा, बारबीघा, मोकामा, बाढ़, मसौढ़ी (एससी), पालीगंज, बिक्रम, संदेश, बराहरा, आरा, चैनपुर, चेनारी (एससी), सासाराम, करगहर, दिनारा, नोखा, देहरी, कराकट, अरवल, कुर्था, जेहानाबाद, घोसी, मखदूमपुर (एससी), गोह, ओबरा, नबी नगर, कुटुम्बा (एससी), औरंगाबाद, रफीगंज, गुरुआ, शेरघाटी, इमामगंज, (एससी), बाराचट्टी (एससी), बोध गया (एससी), गया टाउन, टीकरी, बेलागंज, अतरी, वजीरगंज, राजौली (एससी), हिसुआ, अगियांव (एससी), तरारी, जगदीशपुर, शाहपुर, ब्रह्मपुर, बक्सर, दुमरांव, रायपुर (एससी), मोहनिया (एससी), भाबुआ, नवादा, गोबिंदपुर, वरसालीगंज, सिकंदरा (एससी), जमुई, झाझा, चकाई सीटें शामिल हैं।

From around the web