बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे फेज में बड़ी लापरवाही, ना हुआ सेनेटाइजेशन और ना स्कैनिंग

 

बिहार : 3 नवंबर को बिहार में दूसरे चरण के मतदान हो रहें है, जिसे लेकर हर कोई बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहा है, चाहे वो नवयुवक हो या बुजुर्ग कोई भी इस महापर्व से खुद को वंचित नहीं रखना चाहता। वहीं तीसरे चरण के चुनाव को लेकर भी तमाम पार्टियां अपना कमर कस चुंकी है, जिसे लेकर पीएम मोदी से कांग्रेस नेता राहुल गांधी तक ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे है और इस महामारी के बीच भी लोगों को सजग होने की बातें कर रहें है।

इसी बीच मुजफ्फरपुर के साहेबगंज मध्य विद्यालय, विशुनपुर, मतदान केंद्र संख्या 55 से एक ऐसी बड़ी लापरवाही सामने आई है, जो ना जानें कितने लोगों के जान पर आफत ला सकती थी। गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव से पहले सभी बूथों पर सेनेटाइजेशन, स्कैनिंग कराने के साथ ही मास्क और ग्लव्स को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराने की बात कहीं थी, लेकिन इन सभी बातों की कलई तब खुल गई जब हमारे संवाददाता ने बूथ पर मौजूद वोटरों से बात की।

एक वोटर ने बताया कि वे आज अपना बहुमूल्य योगदान देने आये है, लेकिन बूथ पर कोरोना महामारी को लेकर किसी तरह का कोई व्यवस्था नहीं की गई है। वहीं एक अन्य वोटर ने बताया कि बूथ पर किसी भी वोटर का स्कैनिंग नहीं किया जा रहा है और ना उन्हें सेनेटाइजेशन किया जा रहा है। जिससे वो कोरोना महामारी से सुरक्षित हो सकें।

आपको बता दें कि आज बिहार विधानसभा के 94 सीटों पर मतदान हो रहें है, जिस पर अभी तक तकरीबन 40 प्रतिशत से अधिक की वोटिंग हो चुंकी है। बता दें कि इन सभी सीटों का परिणाम 10 नवंबर को आने वाला है, जो ये तय करेगा कि बिहार में किसकी सरकार बनेगी।

From around the web