शिवसेना के इस सवाल के डर से BJP ने नहीं दिया पांडेय जीको टिकट, दोहराया 11 साल पहले का इतिहास

 

नई दिल्ली : बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर जदयू ने अपने सभी सीटों से उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया हैं, जिससे सुशांत केस से चर्चा में आने वाले बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को बड़ा झटका लगा है। क्योंकि उन्हें ये उम्मीद थी कि सुशांत मामले से सुर्खियों में आने के बाद जदयू उन्हें बक्सर से सीट देगी। लेकिन सीट शेयरिंग के बाद यह सीट बीजेपी के खाते में चल गई और बीजेपी ने इस सीट से परशुराम चतुर्वेदी को उतारकर उनके अरमानों पर पानी फेर दिया।

अब वहीं शिवसेना नेता और महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने गुप्तेश्वर पांडेय को लेकर बड़ा बयान दिया हैं, उन्होंने कहा कि उनके सवाल की डर से बीजेपी ने उन्हें टिकट नहीं दिया। देशमुख ने कहा कि हमने सवाल किया था कि क्या भाजपा के नेता गुप्तेश्वर पांडेय के प्रचार में जाएंगे? शायद इस सवाल के डर से उनको टिकट नहीं दिया होगा।

आपको बता दें कि सुशांत केस के दौरान गुप्तेश्वर पांडेय ने महाराष्ट्र सरकार और शिवसेना पर जमकर हमला बोला था, वहीं उन्होंने रिया को लेकर भी विवादित टिप्पणी की थी। जिसके बाद उन्होंने माफी भी मांगी थी। हालांकि अब जब एक बार फिर यानी 11 साल बाद बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को दुबारा धोखा मिला है, तो वे थोड़े निराश नजर आ रहें है, लेकिन गुप्तेश्वर पांडेय ने अपने प्रशंसकों को परेशान ना होने की बात की है। पांडेय ने ट्वीट कर कहा कि, 'अपने अनेक शुभचिंतकों के फोन से परेशान हूं, मैं उनकी चिंता और परेशानी भी समझता हूं। मेरे सेवामुक्त होने के बाद सबको उम्मीद थी कि मैं चुनाव लड़ूंगा लेकिन मैं इस बार विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ रहा। हताश निराश होने की कोई बात नहीं है। धीरज रखें। मेरा जीवन संघर्ष में ही बीता है। मैं जीवन भर जनता की सेवा में रहूंगा। कृपया धीरज रखें और मुझे फोन नहीं करे। बिहार की जनता को मेरा जीवन समर्पित है।'

अगर हम 11 साल पहले की बात करें तो आपको बता दें कि 11 साल पहले भी गुप्तेश्वर पांडेय ने VRS लिया था, उस वक्त भी पांडेय बक्सर सीट पर अपनी नजर बनाये हुए थे, लेकिन उस वक्त भी पांडेय जी टिकट नहीं मिला। अब देखना यह है कि पांडेय जी अब एक बार फिर मिले धोखा के बाद कौन सा राह चुनते है। क्या वे अब किसी दूसरे पार्टी का दामन थामेंगे, या एक बार फिर VRS वापस लेकर सिविल सर्विस ज्वायन करेंगे।

From around the web