चुनावी रैली के दौरान कई बार भड़के नीतीश, कहा- तुमको अगर वोट नहीं देना है, मत दो

 

नई दिल्ली : बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के पहले चरण का चुनाव 28 अक्टूबर को होने है, जिसे लेकर आज पहले चरण का चुनावी रैली थम चुंका है। आपको बता दें कि इस दौरान सूबे के सीएम नीतीश कुमार ने जितनी रैलियां की थी, उनमें से अधिकतर रैलियों में नीतीश आम जन पर भड़कते नजर आएं। इस दौरान कई बार वे यह भी कह चुंके है तुमको अगर वोट नहीं देना है, मत दो, तुम 8 से 10 लोग जिन्हें वोट देना हैं, उन्हें दे सकते हो।

दरअसल, नीतीश कुमार पर तेजस्वी यादव ने 30 हजार करोड़ रुपए के सात घोटाले के आरोप लगाया था, जिसके बाद कुमार को बेगुसराय में एक रैली के दौरान विरोध का सामना करना पड़ा था, जिसके बाद वह वहां मौजूद लोगों पर भड़क गए थे। भीड़ में मौजूद कुछ लोग तेजस्वी का नाम लेकर नारेबाजी कर रहें थे। इस पर उन्होंने कहा था कि, "तुम 15-20 लोग हो जो विरोध कर रहे हो। देख लो। यहां पर हजारों आदमी हैं। जिसके लिए हंगामा कर रहे हो। उनको यहां लोग ठीक कर देंगे।"

आपको बता दें कि यह कोई पहली बार नहीं हुआ, जब नीतीश कुमार सरेआम भड़कते नजर आएं। इसके बाद वे परसा की रैली में भी भड़कते नजर आएं। बता दें कि इस दौरान नीतीश कुमार परसा में चुनावी रैली को संबोधित कर रहें थे, तभी रैली के बीच में वहां मौजूद कुछ लोग लालू प्रसाद यादव के समर्थन में नारे लगाने के साथ ही हो हल्ला मचाने लगे। जिससे नीतीश काफी गुस्सा हुए और कहा कि,"तुम बीच में 10 आदमी लेकर ऐसे ही हल्ला कर रहे हो। ऐसे ही हल्ला करोगे, यहां पर ये सब हल्ला मत करो, तुमको अगर वोट नहीं देना है, मत दो।

आपको बता दें कि इसके साथ ही नीतीश, पत्रकार द्वारा बिहार बाढ़ के सवाल, मास्क बांटने वाले एमएलसी रामचंद्र भारती और धारा 370 के हटाने पर भड़के थे। खैर अब देखना यह है कि नीतीश का यह गुस्सा बिहार विधानसभा चुनाव के परिणामों पर क्या असर डालता है।

From around the web