बिहार : मुंगेर में जारी हिंसा के बीच EC के आदेश पर हटाए गए SP और DM, की थी ये कार्रवाई

 

नई दिल्ली : मुंगेर की सड़कों का वो हादसा आज भी लोगों को भलीभांति याद होगा, जब पुलिस की बर्बरता ने सारे हदों को तोड़कर निहत्थों युवकों पर लाठीचार्ज की और गोलियां चलाई। आपको बता दें कि इस हादसे में एक युवक की मौत भी हो गई, जबकि कई घायल भी हुए। बता दें कि इस घटना के बाद सड़कों पर जमकर प्रदर्शन और आगजनी किया जाने लगा। इसके साथ ही वहां की एसपी लिपि सिंह को भी हटाने की मांग की गई।

आपको बता दें कि मुंगेर में लगातार बढ़ते बवाल के बीच चुनाव आयोग (EC) ने जिले के डीएम और एसपी की तत्काल छुट्टी कर दी। मिली जानकारी अनुसार अब इस पूरे मामले की जांच मगध कमिश्नर असगबा चुबा आओ करेंगे और सात दिनों के अंदर आयोग को जांच रिपोर्ट सौंपेंगे। वहीं, आज ही मुंगेर में नए डीएम और एसपी की पोस्टिंग की जाएगी। इस संबंध में एडीजी जितेंद्र कुमार ने कहा कि 26 तारीख की रात्रि में मूर्ति विसर्जन के क्रम में विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हुई और उसे लेकर आगे कार्यवाही की गई उस संबंध में जो कांड दर्ज किए गए हैं। उन कांडों का अनुसंधान किया जा रहा है और अनुसंधान के क्रम में जो भी बातें सामने आएगी उसके आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

उन्होंने आगे कहा कि अभी तक इसमे जो बातें सामने आई है, वो ये है कि मूर्ति विसर्जन को लेकर ही विवाद उत्पन्न हुआ था और आगे की स्थिति स्पष्ट नहीं हुआ है और अभी इसपर कुछ भी कहना अभी जल्दबाजी होगा।

बता दें कि बिहार के मुंगेर में 27 अक्टूबर की रात प्रतिमा विसर्जन के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगों में झड़प हो गई थी। झड़प इतनी बढ़ गई कि इस दौरान कई राउंड गोलियां चली, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और लगभग आधा दर्जन लोग घायल हो गए थे। वहीं, इस घटना में कोतवाली प्रभारी समेत तीन जवान भी घायल हो गए थे। इस घटना के बाद स्थानीय लोग लोग वहां की एसपी लिपि सिंह को हटाने की मांग कर रहे थे और इसी को लेकर आज बवाल किया गया है।

From around the web