Bihar: जेल में नहीं आया कोई मिलने,ब्लेड से काट लिया गला

 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

बिहार के अररिया जिला कारागार में हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां, एक कैदी ने केवल इसलिए अपना गला ब्लैड से काट लिया क्योंकि 18 दिन बाद भी घर का कोई सदस्य उससे मिलने जेल में नहीं आया है। इसी कारण उसने आत्महत्या का प्रयास किया।

बताया जा रहा है जब कैदी द्वारा ब्लेड से अपना गला काट लिया गया तो जेल कर्मचारियों द्वारा उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां से कैदी को इलाज के लिए भागलपुर मेडिकल कॉलेज में रेफर किया गया है। वहीं अब उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

आपको बता दें, बरदाहा ओपी क्षेत्र के रहने वाले सुमन पासवान को पुलिस ने डकैती के आरोप में गिरफ्तार किया था जिसके बाद उसे पूर्णिया सेंट्रल जेल भेजा गया था। सुमन को यहां कुछ दिन के लिए क्वारनटीन किया गया जिसके बाद तीन दिन पहले ही उसे अररिया जिला कारागार में भेजा गया। यहीं कैदी सुमन पासवान ने आत्महत्या की कोशिश की।

वजह सुनकर हो जाएंगे हैरान

जब अस्पताल में भर्ती सुमन पासवान से ये पूछा गया की आखिर उसने आत्महत्या का प्रयास क्यों किया तो उसने बताया कि 18 दिन बाद भी घर का कोई सदस्य उससे मिलने जेल में नहीं आया है। इसी वजह से दुखी सुमन पासवान ने आत्महत्या की कोशिश की। वहीं जेल सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सुमन पासवान को जेल की बैरक में आए नाई द्वारा इस्तेमाल कर फेंका गया ब्लेड मिल गया था जिससे उसने अपना गला काट लिया।

वहीं इस मामले में जब जेल अधीक्षक जवाहर लाल प्रभाकर से फोन पर बात की गई, तो उन्होंने बताया कि कैदी ने टैबलेट के रैपर से गला काटने का प्रयास किया था। तीन अक्टूबर को उसे अररिया जेल में शिफ्ट किया गया था। फिलहाल इस पूरे मामले की जांच की जा रही है। जेल अधीक्षक ने कैदी द्वारा ब्लेड से गला काटे जाने की बात को नकार दिया। हालांकि जेल अधीक्षक के अनुसार अब घायल कैदी खतरे से बाहर है।

From around the web