Bihar Chunav 2020: एक बार फिर नीतीश बनेंगे बिहार के मुखिया, तेजस्वी को करना पड़ेगा इंतजार

 

नई दिल्ली : बिहार विधानसभा चुनाव के देर रात चली गिनती में एनडीए ने अपना जीत का परचम लहराया, लेकिन वो भी बेहद कम सीटों से। गौरतलब है कि बिहार में किसी भी पार्टी को सरकार बनाने के लिए 122 सीटों की आवश्यकता थी, जिसे पार करते हुए एनडीए ने 125 सीटों का आंकड़ा टच किया। वहीं महागठबंधन जो कि शुरूआती रूझानों से ही बिहार की सत्ता में आते दिख रहा था, वो 111 सीटों पर ही रुक गया। 

सीटों की बात करें तो 2020 विधनासभा चुनाव में एक बार फिर आरजेडी बड़ी पार्टी बनकर 76 सीटों पर अपना कब्जा जमाया। वहीं बीजेपी ने 74 और जदयू 43 सीटे हासिल की। अगर हम एनडीए गठबंधन की बात करें तो बीजेपी 74, जदयू 43, VIP 4 और हम को 4 सीटें मिली। वहीं महागठबंधन में RJD को 76, कांग्रेस 19 और लेफ्ट को 16 सीटों पर संतोष करना पड़ा।

अगर हम अन्य पार्टियों की बात करें तो AIMIM 5, BSP 1, Others 1 और लोजपा ने 1 सीटें पर जीत दर्ज की।

आपको बता दें कि इस चुनाव में जहां बीजेपी की वोट प्रतिशत बढ़ी. वहीं आरजेडी और जदयू के वोट प्रतिशत में कमी आई है। क्योंकि 2015 विधानसभी चुनाव में RJD 80 सीटों, जदयू 71 सीटों और बीजेपी ने 53 सीटों पर जीत हासिल किया था। वहीं कांग्रेस को 27, एलजेपी को 2, आरएलएसपी को 2, हम को 1 और अन्य के हिस्से में 7 सीटें गई थीं।

From around the web