महागठबंधन के बाद एनडीए में भी सीटों का बंटवारा, नीतीश ने कहा- मैं उन्हें महत्व नहीं देता हूं

 

नई दिल्ली : 5 अक्टूबर सोमवार को महागठबंधन सीट बंटवारे के बाद आज मंगलवार 6 अक्टूबर को एनडीए ने भी अपने सीटों का बंटवारा कर दिया है। इसे लेकर सीएम नीतीश कुमार ने आज ऐलान कर दिया है। मुख्यमंत्री कुमार ने ऐलान कर बताया कि उनकी पार्टी जेडीयू 122 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, वहीं बीजेपी 121 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। कुमार ने बताया कि वे अपने 122 सीटों में से 7 सीटें जीतनराम मांझी की पार्टी हम को देंगे। वहीं बीजेपी अपने 121 सीटों में से 5 मुकेश सहनी की पार्टी VIP को देगी।

आपको बता दें कि इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने अपने कामकाज का भी ब्यौरा दिया। उन्होंने कहा कि हमने न्याय के साथ विकास किया। हर इलाके में सड़क, बिजली सबमें सुधार हुआ है। नीतीश कुमार ने कहा कि, ''सीटों की सूची भी रिलीज कर दी जायेगी। हम लोग बिहार के विकास के लिये काम कर रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। बहुत सारे लोगों के द्वारा बेवजह बहुत बातें की जाती हैं, मैं उन्हें महत्व नहीं देता हूं। हमसे पहले भी 15 साल दूसरे लोगों को मौका मिला, कहां कोई विकास का काम हुआ, क्या हालत थी बिहार की। हमने हमेशा कहा न्याय के साथ विकास।''

बता दें कि इससे पहले बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल ने कहा था कि उनकी पार्टी नीतीश कुमार को एनडीए का नेता मानती है, और उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी। जायसवाल ने कहा कि, ''भाजपा के सबसे पुराने सहयोगी नीतीश कुमार के साथ पूरे बिहार का विकास हुआ है। 15 साल में एनडीए सरकार ने बदहाल बिहार को खुशहाल बिहार बनाया है। जदयू से हमारा अटूट बन्धन है, लोजपा नेता राम विलास पासवान का सम्मान करते हैं, मगर बिहार में एनडीए के नेता नीतीश कुमार हैं। एनडीए में वहीं रहेंगे जो नीतीश कुमार के साथ हैं।''

आपको बता दें कि बिहार में कुल 243 सीटों पर विधानसभा चुनाव होने हैं, जिनमें से 38 सीटें अनुसूचित जाति के लिए और 2 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए रिजर्व हैं।

From around the web