टेनिस टूर्नामेंट अब नहीं होंगे लाइन जज, जानिए कैसे आयेगा परिणाम

 

नई दिल्ली : कोविड-19 महामारी के कारण टूर्नामेंट में लाइन जज नहीं होंगे और हॉकआई लाइव के जरिए गेंद के लाइन से बाहर जाने की जानकारी उपलब्ध होगी। चेयर अंपयार पूरे मैच पर नजर रखेगा। अन्य चीजों पर संदेह पैदा होने पर खिलाड़ी रिव्यू ले सकेंगे। आपको बता दें कि एटीपी (Association of Tennis Professionals) फाइनल्स के इतिहास में पहली बार 2020 में वीडियो रिव्यू और इलेक्ट्रोनिक लाइन कॉलिंग यानी लाइन के बाहर गेंद जाने पर इसकी जानकारी इलेक्ट्रोनिक डिवाइस के माध्य से दिए जाने की सुविधा होगी।

एटीपी टूर अधिकारी रॉस हचइंस ने लिखा, "नयेपन और तकनीक ने हमेशा एटीपी फाइनल्स की सफलता में अहम रोल निभाया है। हम लंदन में अपने 12वें और अंतिम साल के लिए टूर्नामेंट में इलेक्ट्रोनिक लाइन कॉलिंग और वीडियो रिव्यू को शामिल कर खुश हैं। और कई कारणों से यह सीजन हमें सही मौका देता है कि कोविड-19 के कारण हम जिन चुनौतियों का सामना कर रहे हैं उन्हें देखते हुए हम इनका उपयोग करें।"

उन्होंने कहा, "हमें लगता है कि, लंदन में जो पाबंदियां हैं, खासकर टेनिस में खिलाड़ियों और अधिकारियों के मेलजोल को लेकर, उन्हें देखते हुए यह सही समय है।"

गौरतलब है कि 15 से 22 नवंबर के बीच होने वाले एटीपी फाइनल्स और जनवरी में खेले गए एटीपी कप के वीडियो रिव्यू में एक अंतर है। एटीपी कप में इसका इस्तेमाल किया गया था। कोविड-19 प्रोटोकॉल्स के कारण एटीपी फाइनल्स में लाइन जज नहीं होगा और इलेक्ट्रोनिक लाइन कॉलिंग को उपयोग में लिया जाएगा, इसलिए इस बात पर रिव्यू नहीं लिया जा सकेगा कि गेंद लाइन के बाहर है या अंदर।

From around the web