ऐतिहासिक जीत के साथ CSK की हो गई है गेम में वापसी, तोड़ दिया ये 9 साल पुराना रिकॉर्ड...

 

रिपोर्ट : स्वाती सिंह

नई दिल्ली : रविवार यानी 4 अक्टूबर को खेल जाने वाले IPL के दूसरे मुकाबले में वो हुआ जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। दरअसल कल आईपीएल की सबसे धाकड़ टीम चेन्नई सुपर किंग्स ने 10 विकेट से विपक्षी टीम को हराकर जबरदस्त वापसी की है। जिससे उन तमाम अफवाहों पर विराम लग गया, जो पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लेकर उठ रहीं थीं। आपको बता दें कि दुबई में खेल गए इस ऐतिहासिक मैच के साक्षी दर्शक बने जिसमें शेन वॉट्सन और फाफ डु प्लेसिस की ओपनिंग पार्टनरशिप ने पूरा मैच जीता दिया।


आपको बता दें कि 4 अक्टूबर को 7.30 बजे दुबई में आईपीएल 2020 का 18वां मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला गया था। लगातार मैच हार रही चेन्नई सुपर किंग्स के ऊपर इस मैच को लेकर काफी दबाव था । खैर पंजाब ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट के नुकसान पर 178 रन बनाए। पंजाब के कप्तान केएल राहुल ने शानदार प्रदर्शन किया और उन्हीं के दम पर टीम ने चेन्नई के सामने 178 रनों का लक्ष्य रखा। इसके जवाब में चेन्नई ने यह लक्ष्य 17.4 ओवरों में बिना विकेट खोकर हासिल कर लिया।


सीएसके के ओपनर्स ने ही ये मैच जीता दिया। चेन्नई के लिए फाफ डु प्लेसिस ने नाबाद 87 रन और शेन वॉटसन ने नाबाद 83 रन बनाए। डु प्लेसिस ने 53 गेंदों की पारी में 11 चौके और एक छक्का मारा। वॉटसन ने भी 53 गेंदों का सामना कर 11 चौके और तीन छक्के लगाए। फाफ और वॉटसन ने माइकल हसी और मुरली विजय के 9 साल पुराने रिकॉर्ड को कल तोड़ दिया। हसी और विजय ने 9 साल पहले 159 रों की साझेदारी की थी और कल फाफ और वॉट्सन ने 9 साल बाद 181 रनों की साझेदारी करके इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। आपको बता दें कि अंक तालिका में नम्बर 8 पर रहने वाली ने कल के मैच और ऐतिहासिक जीत के बाद सीधे छलांग मारी है और नम्बर 6 पर आ गई है।


बता दें कि कल के मैच की जीत के बाद कप्तान धोनी के चेहरे पर स्माइल हटने का नाम नहीं ले रही थी। सही बताएं तो चेन्नई सुपर किंग्स के फैंस को यही स्माइल देखनी थी क्योकि टीम के खराब प्रदर्शन के चलते विफलता का सारा भार धोनी के ही कंधों पर जा रहा था। धोनी को उनके खेल और रणनीति के लिए लगातार ट्रोल किया जा रहा था।


सभी का मानना था कि अब चेन्नई वापस से गेम में वापसी नहीं कर पाएगी लेकिन कल टीम ने सभी ट्रोलर्स और हेटर्स का मुह बंद कर दिया। टीम की ऐतिहासिक जीत का श्रेय फाफ और वॉटसन ने कप्तान धोनी और फ्ल्लेमिंग को दिया है जिन्होंने आखिरी तक उनपर भरोसा बनाए रखा। जहां चेन्नई ने शानदार वापसी की है तो वहीं किंग्स इलेवेन पंजाब आखिरी नम्बर पर खिसक गई है। टीम के कप्तान केएल राहुल लगातार शानदार प्रदर्शन अपनी टीम के लिए कर रहे हैं लेकिन उनका कोई मतलब नहीं निकल रहा है क्योकि टीम लगातार मैच हार रही है।

From around the web