Fact Check

कांग्रेस ने हाल ही में एक नए अभियान का आगाज किया है, जिसका नाम है – “डोनेट फॉर देश।” दरअसल, इस अभियान को शुरू करने का मकसद देश में कांग्रेस की ताकत को मजबूत करने का है। इस अभियान के अंतर्गत कांग्रेस ने एक क्यूआर कोड शेयर करते हुए लोगों से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के स्थापना दिवस पर स्वतंत्र रूप से दान करने की अपील की थी।

हालांकि अब इसी अभियान के संदर्भ में सोशल मीडिया पर एक अलग ही क्यूआर कोड़ की तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें कांग्रेस का हाथ नहीं बल्कि सोनिया गांधी की तस्वीर छपि हुई है। हालांकि इस क्यूआर को भी “डोनेट फॉर देश” अभियान का ही नाम दिया गया है और साथ ही लोगों से दान करने की अपील की गई है।

Fact Check

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ सोनिया गांधी की छवि वाला फर्जी क्यूआर कोड

ऐसे में जैसे ही सोनिया गांधी की छवि वाली क्यूआर कोड की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई, लोगों ने इसे शेयर करते हुए क्रांग्रेस पर फर्जी चंदा वसूलने के लिए चंदा मांगने के लिए सोनिया गांधी की फोटो का इस्तेमाल करने का आरोप लगाना शुरू कर दिया।

हालांकि ये टूडे समाचार ने जब इस मामले की जांच पड़ताल की तो फैक्ट चेक में पाया गया कि ये क्यूआर कोड पूरी तरह से फर्जी है और कांग्रेस ने ऐसा कोई क्यूआर कोड़ शेयर नहीं किया है। दरअसल, मीमर्स ने मौज मस्ती के लिए इस क्यूआर पर सोनिया गांधी की तस्वीर का इस्तेमाल करते हुए इसे “डोनेट फॉर देश” का नाम दे दिया है और लोगों ने इसे ही सच मान लिया है।

पूरी तरह फर्जी है सोनिया गांधी के तस्वीर वाला क्यूआर

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस खबर के वायरल होने के बाद जब टूडे समाचार ने इस मामले में पड़ताल शुरू की तो क्रांग्रेस के ऑफिशियल एक्स हैंडल पर 28 दिसंबर को शेयर किया गया पोस्ट मिला, जिसमें असली क्यूआर कोड़ छपा था, लेकिन कांग्रेस के किसी भी ऑफिशियल हैंडल पर सोनिया गांधी की छवि वाला क्यूआर नहीं पाया गया।

कांग्रेस के “डोनेट फॉर देश” द्वारा शेयर किए गए क्यूआर में कांग्रेस के चुनाव चिह्न हाथ के पंजे की छवि बनी है, जबिक वायरल हो रहा क्यूआर कोड़ सोनिया गांधी की छवि वाला है। इतना ही नहीं बल्कि कांग्रेस के किसी भी पोर्टल पर ऐसे किसी क्यूआर को शेयर किए जाने की कोई जानकारी नहीं मिली।

वहीं इस क्यूआर कोड को जब स्कैन किया गया तो यह पता लगा कि सोनिया गांधी की छवि वाला ये क्यूआर पूरी तरह से फर्जी है और काम तक नहीं करता है। इसके साथ ही वायरल हो रहे क्यूआर कोड पर जब गौर किया गया, तो यह पता चला कि @@memebhaimbbs नाम के एक्स यूजर ने इस मस्ती मजाक के लिए 18 दिसंबर को शेयर किया था।

ऐसे में हमारे पड़ताल से ये साफ हो गया है कि सोनिया गांधी की छवि वाला ये क्यूआर कोड पूरी तरह से फर्जी है, जिसे सिर्फ मजाक के रुप में शेयर किया गया था। ऐसे में हम TODAY SAMACHAR के माध्यम से लोगों से ये अनुरोध करते हैं कि ऐसी फेक खबरों से बचे और सतर्क रहें।

Verify information accuracy with fact-checking: scrutinize claims, cross-reference sources, and confirm data to ensure reliability and combat misinformation.