कम उम्र में हुआ प्यार, फिर बलात्कार अब सलाखों के पीछे दिलदार

 

कानपुर: नादानी और कम उम्र में 12 साल की एक बिना बाप की बेटी को पड़ोस में रहने वाले व्यापारी से प्यार हो गया। या यूं कह लें कि लडक़ी को व्यापारी ने अपने झांसे में ले लिया। व्यापारी के प्यार में फंसी लडक़ी को उसने बार-बार अपनी हवस का शिकार बनाया और जब मन भरा तो शादी के वादे से भी मुकर गया। उसने लडक़ी के तमाम अश्लील वीडियो और फोटो बना डाले। आबरू तार-तार कर चुका व्यापारी अब अश्लील वीडियो और फोटो के बूते लडक़ी से पैसे ऐंठने लगा, लेकिन ये सब ज्यादा दिन तक नहीं चला।

एक दिन आरोपी का पर्दाफाश हुआ तो लडक़ी बिफर पड़ी। आरोपी ने लडक़ी को धमकाया कि तेरा बाप पहले ही मर चुका है और अगर अब उसने जुबान खोली तो उसकी मां का भी कत्ल कर देगा। हालांकि इस धमकी का लडक़ी पर कोई असर नहीं हुआ और गुरुवार को वह तहरीर लेकर गोविंदनगर पुलिस के पास पहुंच गई। दिलदार के भेष में लडक़ी को लूट रहा व्यापारी अब सलाखों के पीछे हैं। पूरा मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले का है।

अंडर गारमेंट व्यापारी ने ऐसे लिया झांसे में.. 
गोविंदनगर थाना क्षेत्र में रहने वाला अभय यादव उर्फ छोटू अंडर गारमेंट का कारखाना चलाता है। अभय के पड़ोस में ही लडक़ी रहती है, जिसने इसी साल हाई स्कूल की परीक्षा पास की है। करीब दो साल पहले जब पीडि़ता महज 12 साल की थी, तब अभय के उसे झांसे में लिया। लालच दिया कि जब वह बालिग हो जाएगी तो उससे शादी करेगा। दो साल तक अभय उसका शारीरिक शोषण करता रहा और साथ ही उसकी अश्लील वीडियो और फोटो खींचता रहा।

अश्लील वीडियो-फोटो के बूते वसूले 70 हजार
पीडि़ता का कहना है कि वह अभय पर खुद से ज्यादा भरोसा करती थी और इसी का फायदा उठा कर अकसर वह उससे पैसे मांगता था। वह अभय को पैसे दे भी देती थी, लेकिन जब लडक़ी ने पैसे देने से इंकार करना शुरू किया तो अभय ने उसे वो सारे वीडियो और फोटो दिखाने शुरू किए, जो उसने लडक़ी के साथ अंतरगं संबंध बनाते वह खींचता था। इन वीडियो और फोटो को वायरल करने की धमकी दे कर उसने लडक़ी से 70 हजार रुपये ऐंठ लिए।

उठ चुका था सिर से पिता का साया
पीडि़ता एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखती है, लेकिन उसके परिवार की आर्थिक स्थित हमेशा ऐसी नहीं थी। जब लडक़ी के पिता जिंदा थे तब उनकी माली हालत भी बेहतर थी। एक रोज अचानक हादसा हुआ और परिवार के सिर से इकलौते कमाने वाले का साया उठ गया। घर में मां-बेटी के साथ छोटा भाई था। पिता की मौत के बाद घर की माली हालत बिगड़ी तो मां और छोटे भाई ने नौकरी शुरू कर दी। ताकी घर भी चले और बहन पढ़-लिख ले।

From around the web