ऑनर किलिंग : खेतिहर मजदूर के प्यार में पड़ी बेटी, पिता ने की हत्या

 

नई दिल्ली : प्यार कितना जानलेवा होता है, इसे हर कोई जानता है। हीर-रांझा हो या सोहनी-महिवाल, इन सभी का प्यार परवान तो चढ़ा, लेकिन वो एक निश्चित संबंध नहीं बन सका। एक ऐसा ही मामला बेंगलुरु के मगड़ी का है। जहां एक बेटी का प्यार ही उसके लिए जानलेवा बना। खबरों की माने तो युवती को एक खेतिहर मजदूर से इश्क हो गया था, जो दलित वर्ग से ताल्लुक रखता था। जो उसके पिता को नागवार गुजरा और उसके पिता ने अपने दो भतीजों के साथ मिलकर युवती की हत्या कर दी।

आपको बता दें कि इस मामले का खुलासा युवती के पिता के तहरीर के बाद हुआ। दरअसल युवती के पिता ने बंगलुरू के कुदूर थाना में शिकायत दर्ज कराई थी कि उसकी बेटी हेमलता (18) एक बीकॉम स्टूडेंट है और एक दिन पहले से लापता है। जिसके बाद तफ्तीश में पुलिस ने इस रहस्य से पर्दा उठाया। जिसमें युवती के पिता कृष्णाप्पा का नाम सामने आया।

पूछताछ के दौरान कृष्णप्पा ने पुलिस को बताया कि गांव के पास आम के बगीचे में उसकी मौजूदगी का पता चला है। 10 अक्टूबर को युवती का सड़ा-गला शव एक गड्ढे से बरामद हुआ। कृष्णाप्पा ने हेमलता के बॉयफ्रेंड पुनीत पर हत्या का आरोप लगाया लेकिन पुलिस जांच में वह निर्दोष निकला। इसके बाद पुलिस ने पिता से सख्त तेवर में पूछताछ की और अपने कस्टडी में लिया।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि, 'पूछताछ में कृष्णाप्पा ने कबूला कि उसने और उसके दो भतीजों ने मिलकर हेमलता (बेटी) की हत्या की।' कृष्णाप्पा ने बताया कि वो और उसके भतीजे हेमलता के दलित युवक के प्यार में पड़ने से नाराज थे। अधिकारी ने बताया कि, 'तीनों उसे आम के बगीचे में लेकर गए और पत्थर से उसके सिर को कुचल दिया। उन्होंने गड्ढे में शव को फेंककर ऊपर से मिट्टी डालकर ढक दिया।'

From around the web