"किसको कब उठाना है और कब गिरा देना है", बोलते ही टूटा कांग्रेस प्रत्याशी का मंच, देखें VIDEO

 

नई दिल्ली : “किसको कब उठाना है और कब गिरा देना है”, ये कहना ही था कांग्रेस उम्मीदवार मशकूर अहमद उस्मानी का, की मंच भी टूट गया। वो भी इस कदर की सभी नेता धड़ाम से गिर पड़े। गौरतलब हैं कि बिहार में इन दिनों विधानसभा के चुनाव हो रहे है, जिसके पहले चरण का चुनाव हो चुंका है। इस दौरान सभी उम्मीदवारों ने जमकर चुनाव प्रचार किया। अब बारी थी, दूसरे चरण के चुनाव प्रचार की, जिसे लेकर सभी उम्मीदवारों ने एक बार फिर अपना ताकत झोंका।

आपको बता दें कि इन्ही सब जोर-आजमाइश के बीच बिहार के दरभंगा जिले से एक ऐसा वीडियो सामने आया है, जो लगातार वायरल हो रहा है। गौरतलब है कि दरभंगा के जाले विधानसभा सीट पर चुनाव प्रचार के दौरान एक कांग्रेस उम्मीदवार शर्मनाक घटना के शिकार हो गये। इस दौरान वे आम जन को संबोधित ही कर रहें थे कि मंच टूट गई, जिससे सभी नेता गिर पड़े।


बता दें कि इस घटना की सबसे गौर करने वाली बात यह थी कि नेता जी कह रहें थे पांच साल में एक बार सरकार चुनने का मौका मिलता है और लोकतंत्र में आम जनता यह जानती हैं की किसे कब उठाना हैं और किसे कब गिराना, बोलते ही मंच खुद टूट गया। आपको बता दें कि इस घटना के दौरान किसी को भी चोट नहीं लगी है।   

इस घटना का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। आपको बता दें कि ये वीडियो जाले विधानसभा में जनसंपर्क के दौरान बताया जा रहा है। दरभंगा में कांग्रेस पार्टी से टिकट लेकर आने के बाद से ही मशकूर अहमद उस्मानी काफी चर्चित उम्मीदवार बन गये है, जहां उनका मुकाबला जाले विधानसभा इलाके में वर्तमान भाजपा विधायक जीवेश कुमार के साथ है।

बता दें कि इससे पहले मशकूर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में जिन्ना की तस्वीर मामले को लेकर चर्चा में आये थे, जिसे लेकर बीजेपी ने भी उन पर निशाना साधा था।

From around the web